Live TV
  1. Home
  2. पैसा
  3. ऑटो
  4. फोर्ड ने पेश किया 50-50 ऑफर,...

फोर्ड ने पेश किया 50-50 ऑफर, कार खरीदने पर 12 महीने तक नहीं देनी होगी ईएमआई

मार्च में जहां सभी कार कंपनियां एक से बढ़कर एक ऑफर पेश कर रही हैं इसी बीच अमेरिकी कंपनी फोर्ड एक शानदार ऑफर लेकर आई है। कंपनी ने मार्च के महीने में एक शानदार ऑफर पेश किया है।

Sachin Chaturvedi
Written by: Sachin Chaturvedi 28 Mar 2018, 19:31:58 IST

नई दिल्‍ली। मार्च में जहां सभी कार कंपनियां एक से बढ़कर एक ऑफर पेश कर रही हैं इसी बीच अमेरिकी कंपनी फोर्ड एक शानदार ऑफर लेकर आई है। कंपनी ने मार्च के महीने में एक शानदार ऑफर पेश किया है। कंपनी ने इस ऑफर को 50-50 नाम दिया है। इसके तहत कंपनी 1 साल तक ईएमआई न भरने की छूट दे रही है। इसके अलावा कंपनी अपनी दो लोकप्रिय कारों फोर्ड फीगो और फोर्ड एस्‍पायर पर 60000 रुपए तक के अतिरिक्‍त लाभ भी प्रदान कर रही है। आपको बता दें कि कंपनी ने यह ऑफर 1 मार्च से शुरू किया था और यह ऑफर 31 मार्च तक ही है। ऐसे में यदि आप इसी हफ्ते कार खरीदने का फैसला लेते हैं तो आपको इस ऑफर का फायदा मिल सकता है।

इस ऑफर के रूप में विस्‍तार से बताएं तो फोर्ड के अनुसार इस 50-50 ऑफर के तहत ग्राहकों को सिर्फ कार की राशि का 50 फीसदी भुगतान डाउन पेमेंट के रूप में करना होगा। शेष बची राशि को आप ईएमआई पर भुगतान कर सकते हैं लेकिन यह ईएमआई आपको आज नहीं देनी होगी। बल्कि कंपनी 1 साल तक ईएमआई भरने से छूट प्रदान कर रही है। आपको 12 महीने तक एक भी ईएमआई की किश्‍त नहीं भरनी होगी। आपके लिए यह छूट काफी फायदेमंद हो सकती है। लेकिन यह बात ध्‍यान रखनी होगी कि यह ऑफर तभी मिलेगा जब आप फोर्ड क्रेडिट इंडिया प्रा लि. से लोन लेते हैं।

इसके साथ ही फोर्ड अपनी दो मशहूर कारों फोर्ड फीगो और फोर्ड एस्‍पायर पर भी शानदार ऑफर प्रदान कर रही है। इसके तहत यदि आप फज्ञेर्ड की एस्‍पायर कार खरीदते हैं तो आपको 60 हजार रुपए के फायदे मिल सकते हैं और वहीं दूसरी ओर यदि आप नेक्‍स्‍ट जेन फोर्ड फीगो को खरीदते हैं तो आपको 50 हजार रुपए के अतिरिक्‍त लाभ मिल सकते हैं। इसके अलावा केंद्रीय कर्मचारियों, कॉरपोरेट कंपनियों, इंश्‍योरेंस कंपनियों, आईटी प्रोफेशनल्‍स, चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, डिफेंस पर्सनल आदि को कंपनी की ओर से अतिरिक्‍त फायदे दिए जा रहे हैं।

Web Title: फोर्ड ने पेश किया 50-50 ऑफर, कार खरीदने पर 12 महीने तक नहीं देनी होगी ईएमआई