Live TV
GO
  1. Home
  2. पैसा
  3. ऑटो
  4. सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री...

सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री रफ्तार पड़ी धीमी, महंगे तेल और केरल बाढ़ का दिखा असर

ईंधन के बढ़े हुए दाम और कुछ जगह बाढ़ के कारण सितंबर में घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री की रफ्तार मंद रही। प्रमुख विनिर्माताओं की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों में बिक्री में यह गिरावट दिखी है।

India TV Paisa Desk
Edited by: India TV Paisa Desk 01 Oct 2018, 23:21:22 IST

नई दिल्ली। ईंधन के बढ़े हुए दाम और कुछ जगह बाढ़ के कारण सितंबर में घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री की रफ्तार मंद रही। प्रमुख विनिर्माताओं की ओर से सोमवार को जारी आंकड़ों में बिक्री में यह गिरावट दिखी है। मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई), टाटा मोटर, टोयोटा किर्लोस्कर की सितंबर की बिक्री की वृद्धि दर 10 प्रतिशत से नीचे रही, जबकि हुंडई, महिंद्रा एंड महिंद्रा और फोर्ड की बिक्री घटी है।  

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता एमएमआई ने कहा कि इस साल सितंबर में उसने 1.4 प्रतिशत की वृद्धि के साथ घरेलू बाजार में 1,53,550 इकाइयों की बिक्री की। पिछले साल की इसी अवधि में कंपनी ने 1,51,400 वाहन बेचे थे। कंपनी के स्विफ्ट और बलेनो जैसे मॉडल की बिक्री में पिछले महीने बढ़ोतरी हुई। वहीं छोटी कारों और उपयोगी वाहनों की बिक्री में कमी आई।

टाटा मोटर ने कहा कि पिछले महीने घरेलू बाजार में उसके यात्री वाहनों की बिक्री सात फीसदी बढ़कर 18,429 इकाइयां रहीं। कंपनी ने पिछले साल सितंबर में 17,286 वाहनों की बिक्री की थी। टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने पिछले महीने 1.43 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 12,512 वाहनों की बिक्री की। कंपनी ने पिछले साल इसी अवधि में 12,335 वाहन बेचे थे। 

टीकेएम के उप प्रबंध निदेशक एन राजा ने कहा कि ईंधन की बढ़ती कीमतों, देश के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ और मुद्रा के कमजोर होने के कारण ऑटो उत्पाद की मांग अस्थायी तौर पर गिरी है। उन्होंने उम्मीद जतायी कि त्योहारी मौसम में स्थिति बेहतर होगी और वाहन खरीद के रूझान में मजबूती आएगी। हुंडई ने कहा कि उसके वाहनों की घरेलू बिक्री में साढ़े चार प्रतिशत की गिरावट आयी है। कंपनी ने इस साल सितंबर में 47,781 वाहन घरेलू बाजार में बेचे। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी ने 50,028 इकाइयों की बिक्री की थी। इसी प्रकार महिंद्रा एंड महिंद्रा के वाहनों की घरेलू बिक्री में 16 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी। कंपनी ने इस साल सितंबर में 21,411 वाहन बेचे। उसने पिछले साल इसी अवधि में 25,414 इकाई की बिक्री की थी। 

एमएंडएम के ऑटोमोटिव सेक्टर के अध्यक्ष राजन वढेरा ने कहा कि ग्राहकों की कमजोर धारणा, ईंधन की ऊंची कीमतों और देश के विभिन्न हिस्सों में मानसून के प्रभाव के कारण सितंबर में यात्री वाहनों के बाजार में सन्नाटा रहा। कंपनी ने आशा जतायी कि आगामी त्योहारी मौसम में कंपनी के साथ-साथ ऑटो उद्योग में खरीदी मजबूत होगी। फोर्ड ने कहा कि सितंबर में उसकी घरेलू बिक्री में 6.04 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी। कंपनी ने इस साल सितंबर में 8,239 वाहन बेचे। पिछले साल इसी अवधि में कंपनी की बिक्री 8,769 इकाई रही थी। फोर्ड इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अनुराग मेहरोत्रा ने कहा कि केरल में बाढ़, ईंधन के मूल्य में वृद्धि, रूपये के कमजोर होने से त्योहारी मौसम की शुरुआत अपेक्षाकृत फीकी हुई है। उद्योग को आशा है कि उच्च वृद्धि के साथ त्योहारों के मौसम का समापन होगा।  

दोपहिया वर्ग में बजाज ने कहा कि आलोच्य महीने में उसकी घरेलू बिक्री पिछले साल की 2,81,779 इकाइयों की तुलना में 11 प्रतिशत बढ़कर 3,11,503 इकाइयों पर पहुंच गई। दोपहिया निर्माता ने कहा कि पिछले महीने कंपनी की घरेलू बिक्री एक प्रतिशत बढ़कर 70,065 इकाइयां रहीं। रॉयल एनफील्ड ने पिछले साल सितंबर में 69,393 इकाइयों की बिक्री की थी। सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एसएमआईपीएल) ने सितंबर में 24.27 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 63,140 वाहनों की बिक्री की। टीवीएस मोटर ने कहा कि सितंबर में उसने 18 प्रतिशत वृद्धि के साथ 4,23,978 वाहन बेचे। कंपनी ने पिछले साल इसी अवधि में 3,59,850 वाहनों की बिक्री की थी। 

Web Title: Cars sales dip in Sep due to high fuel price and kerla flood | सितंबर में यात्री वाहनों की बिक्री रफ्तार पड़ी धीमी, महंगे तेल और केरल बाढ़ का दिखा असर