Live TV
GO
Hindi News लाइफस्टाइल जीवन मंत्र भूलकर भी प्लास्टिक की बोतल में...

भूलकर भी प्लास्टिक की बोतल में न रखें गंगाजल, जानें और भी रोचक बातें

गंगाजल का इस्तेमाल अनुष्ठानों के साथ-साथ कई जगहों पर किया जाता है। लेकिन कई बार होता है कि गंगाजल रखते या फिर लाते समय हम ऐसी गलतिया कर देते है। जिसके कारण हमें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 21 Feb 2018, 23:04:23 IST

धर्म डेस्क: भारत में गंगाजल का बहुत अधिक महत्व है। हिंदू धर्म में गंगा नदी को मां का स्थान दिया गया है। जिसके कारण इसका पवित्र जल अपने घर लेकर आते है। जिससे कि उनका घर भी इस जल के समान पवित्र हो जाएं।

गंगाजल का इस्तेमाल अनुष्ठानों के साथ-साथ कई जगहों पर किया जाता है। लेकिन कई बार होता है कि गंगाजल रखते या फिर लाते समय हम ऐसी गलतिया कर देते है। जिसके कारण हमें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

  • ऐसे ही हम जब नदी से जल लाते है तो प्लास्टिक की बोतल का इस्तेमाल करते हैं। जोकि सही नहीं है। प्लास्टिक की बोतल में रखने से इसकी शुद्धता और पवित्रता खत्म हो जाती है। जिससे देवता भी क्रोधित हो सकते है।
  • वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो प्लास्टिक को विषैला माना जाता है। इसलिए जहां तक हो सके गंगाजल को चांदी के बर्तन में ही रखे और अगर चांदी का बर्तन मौजूद न हो तो आप इसे तांबे या पीतल के बर्तन में भी रख सकते है। 

gangajal

  • गंगाजल को हमेशा घर पर साफ-सुथरी जगह पर रखें, क्योंकि यह भी गंगा नदी ही है। जिसे गंदा रखना आपकी गरीबी का कारण बन सकता है।
  • गंगाजल को कभी भी अंधेरी जगह में नहीं रखना चाहिए। घर को बुरी शक्तियों, नजर दोष आदि नकारात्मक ऊर्जा से बचाए रखने के लिए हर दिन घर के चारों ओर गंगाजल छिड़के।
  • गंगाजल को ऐसी जगह पर रखेँ। जिस कमरे में आप कभी भी मांस-मंदिरा का सेवन न करते हो। इसे हमेशा ईशान कोण में रखे। इससे सकारात्मक ऊर्जा मिलती है।
India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन

More From Religion