Live TV
GO
  1. Home
  2. लाइफस्टाइल
  3. जीवन मंत्र
  4. Chandra Grahan 2018: चंद्रग्रहण खत्म होने...

Chandra Grahan 2018: चंद्रग्रहण खत्म होने के बाद जरुर करें ये उपाय, होगा बुरा प्रभाव खत्म

आज चांद लाल रंग में भी नजर आएगा जिसके लिए इसे ब्‍लड मून भी कहते हैं। इसके दौरान खासतौर पर कुंवारी कन्‍याओं, गर्भवती महिलाओं, श‍िशुओं और बुजुर्गों को ग्रहण के चांद से दूर ही रहना चाहिए। चंद्र ग्रहण के दौरान तो कई काम करने की मनाही होती है लेकिन ग्रहण के बाद अपना रुटीन शुरू करने से पहले भी कुछ नियम पूरे करने होते हैं। 

India TV Lifestyle Desk
Written by: India TV Lifestyle Desk 27 Jul 2018, 23:57:34 IST

धर्म डेस्क: चंद्र ग्रहण आज यानि गुरु पूर्णिमा यानि आज के दिन लग रहा है। आपको इससे जुड़े कुछ दिलचस्प बात बताते हैं। यह ग्रहण इसलिए भी खास है क्योंकि आज गुरु पूर्णिमा का दिन है और चंद्र ग्रहण एक ही दिन पड़ा है। भारतीय समय के मुताबिक आप ग्रहण को रात के 11 बजकर 54 मिनट पर देख पाएंगे। ग्रहण का मध्य 1 बजकर 52 मिनट पर होगा साथ ही इसका अंत होगा रात में 3:49 बजे। रात में एक बजे से लेकर रात में 02:43 बजे तक पूर्ण ग्रहण की अवस्था होगा। ग्रहण की पूर्ण अवधि 4 घंटे की होगी जो सदी की सबसे बड़ी चन्द्र ग्रहण होगी। लेकिन कई लोग ऐसे हैं जो रात के वक्त बाहर निकलर ग्रहण को नहीं देख पाएंगे तो परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा समेत कई जगहों पर आज (27 जुलाई 2018 ) को रात 10 बजे से चंद्रग्रहण का लाइव प्रसारण किए जाने की खबरें आ रही हैं।

आज चांद लाल रंग में भी नजर आएगा जिसके लिए इसे ब्‍लड मून भी कहते हैं। इसके दौरान खासतौर पर कुंवारी कन्‍याओं, गर्भवती महिलाओं, श‍िशुओं और बुजुर्गों को ग्रहण के चांद से दूर ही रहना चाहिए। चंद्र ग्रहण के दौरान तो कई काम करने की मनाही होती है लेकिन ग्रहण के बाद अपना रुटीन शुरू करने से पहले भी कुछ नियम पूरे करने होते हैं। दरअसल चंद्र ग्रहण का प्रभाव 108 दिन तक माना जाता है। ऐसे में ये नकारात्‍मकता दूर करने के लिए ग्रहण खत्‍म होने के बाद कुछ उपाय करने जरूरत होती है। साथ ही ग्रहण के बाद घर की अच्‍छी तरह सफाई भी आवश्‍यक बताई गई है।(घर पर बैठे आप भी देख सकते हैं चंद्रग्रहण LIVE, जानें कैसे)

चंद्र ग्रहण का असर आप पर न पड़े, इसके जरूरी है कि ग्रहण के बाद इन बातों का पालन किया जाए : 

ग्रहण के समय पहने गए वस्‍त्रों को दोबारा नहीं पहनना चाहिए। बेहतर होगा कि आप स्‍नान के बाद इनको दान कर दें। 

ग्रहण के बाद बिना स्‍नान व पूजा क‍िए कुछ भी ग्रहण न करें। 

स्‍नान के बाद घर का पूजा घर भी शुद्ध करें। इसके लिए देवी-देवताओं व भगवान की सभी प्रतिमाओं व तस्‍वीरों पर गंगाजल छड़िक दें। 

चंद्र ग्रहण के बाद पितरों को याद करें व उनके नाम पर दान दें। ऐसा करने से ग्रहण का बुरा प्रभाव उतर जाएगा। 

ग्रहण के बाद शिव पूजा भी फायदेमंद मानी गई है। अगर आप ये पूजा किसी मंदिर में जाकर करें तो बेहतर होगा। 

घर में तुलसी का पौधा भी चंद्र ग्रहण से प्रभावित होगा। इसकी पूजा करने से पहले इस पर गंगा जल छड़िकें। 

ग्रहण के बाद घर की अच्‍छी तरह सफाई करें और पूरे घर में धूप या अगरबत्‍ती का धुआं दिखाएं। 

तीन सूखे नारियल और सवा किलो सतनाजा प्रातरू दान में दें या जल प्रवाह करने से भी ग्रहण का प्रभाव कम होता है।  

इसके अलावा ग्रहण के बाद दान भी करें। ये चंद्र ग्रहण चूंकि मकर राशि में लग रहा है, जिसका स्वामी शनि है। ऐसे में इस राशि के जात‍क तिल और तेल का दान करें। श्री हनुमान जी के मंदिर में लाल चोला चढ़ाएं और गरीबों को भोजन कराएं।(चंद्रग्रहण 2018: ग्रहण के दौरान इन बातों का जरूर रखें ख्याल नहीं तो पूरी जिंदगी पड़ सकता है पछताना)

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Religion News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Web Title: Chandra Grahan ke upay what to do after lunar eclipse: Chandra Grahan 2018: चंद्रग्रहण खत्म होने के बाद जरुर करें ये उपाय, होगा बुरा प्रभाव खत्म