Live TV
GO
Hindi News लाइफस्टाइल राशिफल 14 अप्रैल को सूर्य कर रहा...

14 अप्रैल को सूर्य कर रहा है मेष राशि में प्रवेश, इन राशियों पर पड़ेगा प्रभाव वहीं 15 अप्रैल से शुरु हो जाएंगे मंगलकार्य

आज के दिन सूर्य की मेष संक्रांति है। आज के दिन दोपहर 02 बजकर 09 मिनट पर सूर्यदेव मेष राशि और अश्विनी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। जानकारी के लिये ये भी बता दूं कि मेष राशि में सूर्यदेव 15 मई को सुबह 11 बजकर 01 मिनट तक रहेंगे और अश्विनी नक्षत्र में 28 अप्रैल को सुबह 06 बजकर 04 मिनट तक रहेंगे।

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 13 Apr 2019, 13:54:34 IST

धर्म डेस्क: आज के दिन सूर्य की मेष संक्रांति है। आज के दिन दोपहर 02 बजकर 09 मिनट पर सूर्यदेव मेष राशि और अश्विनी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। जानकारी के लिये ये भी बता दूं कि मेष राशि में सूर्यदेव 15 मई को सुबह 11 बजकर 01 मिनट तक रहेंगे और अश्विनी नक्षत्र में 28 अप्रैल को सुबह 06 बजकर 04 मिनट तक रहेंगे।  सूर्य के मीन से मेष राशि में प्रवेश करने के साथ ही सूर्यदेव का राशियों में गोचर का एक चक्र भी पूरा हो जायेगा। दरअसल आपको बता दूं कि लगभग 30 दिनों के अंतराल पर सूर्यदेव एक-एक करके सभी बारह राशियों में गोचर करते हैं। ये चक्र मेष राशि से शुरू होकर मीन राशि तक चलता है और फिर मेष राशि से दोबारा शुरू हो जाता है। अतः आज से सूर्य का राशि चक्र फिर से शुरू हो जायेगा। साथ ही सूर्यदेव के मेष राशि में प्रवेश करने से मीन खरमास भी समाप्त हो जायेगा और बीते एक महीने से जो शादी-विवाह आदि शुभ कार्य बंद थे, वो भी फिर से शुरू हो जायेंगे।   

सूर्य की इस मेष संक्रांति को सतुआ संक्रांति के नाम से जाना जाता है। सतुआ, यानी चने की दाल या जौ से बना सत्तू। चूंकि आज के दिन चने की दाल या जौ से बने सत्तू को खाने और साथ ही दान करने की परंपरा है, जिस कारण से इस संक्रांति को सतुआ संक्रांति कहते हैं। आज के दिन सूर्य की इस मेष संक्रांति का पुण्यकाल सुबह 10 बजकर 09 मिनट से शाम 06 बजकर 09 मिनट तक रहेगा। इस दौरान हरिद्वार या काशी के अस्सी घाट पर स्नान का बड़ा ही महत्व है। इसके साथ ही आज के दिन जल और कुम्भ, यानी मिट्टी के घड़े के दान का भी महत्व है।

आपको ये भी बता दूं कि 15 मई तक सूर्यदेव के मेष राशि में गोचर से विभिन्न राशियों पर अलग-अलग प्रभाव देखने को मिलेंगे। अतः सूर्य के इस गोचर का किस राशि वालों पर क्या असर होगा, सूर्यदेव आपके किस स्थान पर गोचर करेंगे और उस स्थिति में शुभ फल सुनिश्चित करने के लिये और अशुभ फलों से बचने के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए। जानें इस बारें में आचार्य इंदु प्रकाश। (Chaitra Navratri 2019: अष्टमी,रामनवमी और नवरात्र समापन की तिथि को लेकर है असमंजस, तो जानें किस दिन होगा कौन सा व्रत)

मेष राशि
सूर्यदेव आपके पहले स्थान, यानी लग्न स्थान पर गोचर करेंगे। सूर्यदेव के इस गोचर से आपको समाज में भरपूर यश और सम्मान मिलेगा। इससे आपके पैसों में वृद्धि होगी और आपके प्रेम-संबंधों में मजबूती आयेगी। साथ ही संतान को न्याय से जुड़े कार्यों में लाभ मिलेगा। अतः 15 मई तक सूर्यदेव की शुभ स्थिति बनाये रखने के लिए आज संक्रांति के दिन आपको मन्दिर में मिट्टी का घड़ा दान करना चाहिए। इससे आपको हर तरह से शुभ फलों की प्राप्ति होगी।  (शनिवार को 8 मुखी रुद्राक्ष से करें ये उपाय और पाएं हमेशा के लिए आर्थिक तंगी से छुटकारा)

वृष राशि
सूर्यदेव आपके बारहवें स्थान पर गोचर करेंगे। सूर्यदेव के इस गोचर से आप अपनी सुख-सुविधाओं को बढ़ाने के लिये 15 मई तक कुछ पैसे खर्च कर सकते हैं। इस दौरान आपको शैय्या सुख का लाभ मिलेगा। आपका दाम्पत्य जीवन अच्छा रहेगा। अतः 15 मई तक शुभ फल पाने के लिये  आपको सुबह के समय अपने घर के खिड़की, दरवाजे खोलकर रखने चाहिए, ताकि सूर्यदेव की रोशनी से घर में पॉजिटिव ऊर्जा आ सके। साथ ही आज संक्रांति के दिन आपको जौ का दान करना चाहिए। इससे आपका दाम्पत्य जीवन अच्छा रहेगा और आपकी पैसों की स्थिति भी अच्छी रहेगी।

अगली स्लाइड में पढ़ें और राशियों के बारें में

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Rashifal News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन