Live TV
GO
Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थ World Hypertension Day 2019: इस साइलेंट...

World Hypertension Day 2019: इस साइलेंट किलर हाइपरटेंशन के संकेतों को न करें इग्नोर, हो सकता है जानलेवा

हर साल 17 मई को विश्व हाइपरटेंशन दिवस या World Hypertension Day के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह है कि लोगों को हाई ब्लड प्रेशर के खतरों के बारे में बताया जाए

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 17 May 2019, 10:54:08 IST

हेल्थ डेस्क: आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हम अपने लिए वक्त ही नही निकाल पाते। गलत खानपान की आदतों के कारण हाइपरटेंशन या हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों को दावत देते है। इसे साइलेंट किलर बीमारी माना जाता है। इसके साथ ही आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हार्ट अटैक हाइपरटेंशन की वजह से भी हो सकता है। हर साल 17 मई को विश्व हाइपरटेंशन दिवस या World Hypertension Day के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य यह है कि लोगों को हाई ब्लड प्रेशर के खतरों के बारे में बताया जाए और इसे कंट्रोल करने व ठीक करने के तरीकों के बारे में जागरूक किया जाए। इस साल World Hypertension Day की थीम 'Know Your Numbers' है।

एक शोध के अनुसार भारत की 40 फीसदी आबादी को यह बात पता है कि उन्हें यह भयानक बीमारी है, लेकिन इसमें ज्यादा ध्यान न देने के कारण मौत के मुंह में चले जाते है। इसके अलावा देश में एक-तिहाई से ज्यादा लोग उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं और लगभग 60 फीसदी लोगों को पता ही नहीं है कि उन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या है। ये आंकड़े द ग्रेट इंडिया बीपी सर्वे में सामने आए हैं।

ये भी पढ़ें- शरीर को ना बनाएं एसी का आदी, स्वास्थ्य और सुंदरता दोनों के लिए है नुकसानदायक

इस स्टडी में पाया गया है कि भारत में 200 मिलियन अडल्ट हैं जो हाइपरटेंशन के शिकार हैं। जिसमें से 40 फीसदी को पता है और 20 फीसदी लोग ही इसका इलाज कराते हैं। सबसे बड़ी बात है कि भारत में बीमारियों से जितनी मौत होती है उसमें से 10 फीसदी लोग हाइपरटेंशन से मरते हैं।

क्या है हाइपरटेंशन?
हाइपरटेंशन यानी कि हाई ब्लड प्रेशर वह स्थिति होती है, जब धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ता है। इसके कई कारण हो सकते हैं, जिनमें तनाव, फास्ट फूड, व्यायाम की कमी, धूम्रपान का सेवन आदि शामिल है। सामान्य ब्लड सर्कुलेशन का रेंज 120/80 MMHG होता है। हाइपरटेंशन बढ़ने से इसका असर शरीर के मुख्य अंगों जैसे, ब्रेन, किडनी, हृदय, आंख आदि पर होता है।

ये भी पढ़ें- देश में बढ़ता जा रहा है इस बीमारी का खतरा, जानिए इसके बारे में

World Hypertension Day

हाइपरटेंशन के लक्षण

धुंधला दिखना
कई बार ऐसा हो जाता है कि हाइपरटेंशन  की वजह से आपको धुंधला दिखने लगता है। ऐसा होने का मुख्य कारण है जब हाइपरटेंशन बढ़ जाता है तो आपके दिमाग के कई हिस्सों में सूजन आ जाती है। जिससे आंख से जुड़ी नसें प्रभावित होती है। जिसके कारण आपको धुंधला दिखने लगता है। कई लोगों के साथ यह समस्या हो जाती है कि दिमाग में अधिक सूजन होने जाने के कारण ऑप्टिक नर्व भी सूज सकती है जिससे आपकी देखने की क्षमता भी खत्म हो सकती है।

थकान और अनिद्रा
जब आपको आप हाइपरटेंशन बढ़ जाता है तब आपके आपके शरीर के कई अंदरूनी अंग कमजोर और ख़राब हो जाते हैं। साथ ही हार्ट चैम्बर्स के मोटे हो जाने के कारण पूरे शरीर में खून ठीक से नहीं पहुंच पाता है जिससे कारण आपको थकान और अनिद्रा जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

नाक से खून का बहना
अगर आपकी नाक से अधिकतर खून निकलने लगता है। इसका मुख्य कारण हाइपरटेंशन भी हो सकता है। इसलिए तुरंत किसी डॉक्टर को दिखाएं। जिससे ये बीमारी ज्यादा न बढ़े।

सांस लेने में दिक्कत
हार्ट चैम्बर्स में अधिक दवाब बढ़ने के कारण हृदय ठीक से खून को पंप नहीं कर पाता है। जिससे आपके फेफड़ों में भी पर्याप्त मात्रा में खून नहीं पहुंच पाता जिसके कारण आपकी सांस लेने में समस्या उत्पन्न हो जाती है।

तेज सिरदर्द
तेज सिरदर्द जब आपका ब्लड प्रेशर बहुत ज्यादा बढ़ हो जाता है तब क्रेनियम पर दवाब काफी बढ़ जाता है जो मस्तिष्क के स्कल का ही एक भाग होता है। जिसके कारण आपके सिर में तेज सिर दर्द होने लगता है। जो आगे चलकर माइग्रेन की समस्या बन जाता है। जब अधिक हाइपरटेंशन होता है तब सीने में दर्द, नजर में धुंधलापन और मिचली आने जैसी समस्याएं भी होने लगती हैं।

हाइपरटेंशन के कारण

 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन