Live TV
GO
Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थ World Blood Donor Day 2019: रक्तदान...

World Blood Donor Day 2019: रक्तदान करने पर लगता है डर!, कही इसकी वजह ये भ्रम तो नहीं

विश्व रक्तदान दिवस 2019: कई ऐसे लोग होते है जिन्हें रक्तदान करने में डर लगता है। क्योंकि उनके मन में कई तरह भ्रम होते है। जिनके कारण वह रक्तदान करने में सबसे पीछे रहते है।

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 14 Jun 2019, 11:34:21 IST

World Blood Donor Day 2019: हर साल 14 जून को विश्व रक्तदान दिवस यानी World Blood Donor Day 2019 मनाया जाता है। हर इंसान को रक्तदान जरुर करना चाहिए। इससे किसी दूसरे की जान ही नहीं बचाएंगे। बल्कि खुद का भी स्वास्थ्य फिट रखेंगे। लेकिन कई ऐसे लोग होते है जिन्हें रक्तदान करने में डर लगता है। क्योंकि उनके मन में कई तरह भ्रम होते है। जिनके कारण वह रक्तदान करने में सबसे पीछे रहते है। लेकिन आपने कभी सोचा कि आपके ब्लड डोनेट करने से कई जिंदगियां बच सकती है। वह एक नई जिंदगी भी से जी सकते है। अगर आपको भी रक्तदान से संबंधित ये भ्रम है। तो आज ही इसे दिमाग से निकालकर रक्तदान करना शुरु कर दें।

टैटू बनवाने और अंग छिदवाने से रक्त दान नहीं कर सकते
WHO की गाइडलाइन्स के मुताबिक़ रक्तदान के लिए टैटू बनवाने के बाद 6 घंटे और किसी पेशेवर से अंग छिदवाने के बाद 12 घंटे का इंतज़ार ज़रूरी है। इसके अलावा दांत के डॉक्टर के पीस आने के बाद से 24 घंटे का इंतज़ार करना होता है।

शरीर में कम हो जाएगा खून
कई लोगों को लगता है कि अगर मैने रक्तदान कर दिया तो फिर मैं कैसे जिऊंगा। मैने शरीर में तो खुद खून कम हो जाएगा। लेकिन आपको बता दें कि आपके रक्तदान करने के 48 घंटे के अंदर ही आपके शरीर में ब्लड की कमी पूरी हो जाती है। अगर आप अपने को हेल्दी महसूस करें तो फिर 3 या फिर 6 माह में डोनेट करें।

ये भी पढ़ें- World Blood Donor Day 2019: नियमित रुप से रक्तदान करने के है बेमिसाल फायदे, होगा कैंसर सहित इन बीमारियों से बचाव

रक्तदान से शरीर कमजोर होता है
लोगों का मानना है कि रक्तदान करने से शरीर कमजोर हो जाता है। लेकिन ये बात सच नहीं है, रक्तदान करने के बाद आपका शरीर कमजोर नहीं पड़ता। बशर्ते आप डॉक्टर की बताई बातों का फॉलो करें।

एक बार से ज्यादा रक्तदान नहीं कर सकते
लोगों को लगता है कि वो सिर्फ एक बार ही रक्तदान कर सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं है। एक स्वस्थ व्यक्ति साल में 4 बार रक्तदान कर सकता है। आप 3 महीने के अंतराल पर एक बार रक्तदान कर सकते हैं। आप चाहे तो साल में 2 बार कर सकते है।

रक्तदान करने से ब्लडप्रेशर स्थिर नहीं रहता
रक्तदान को लेकर ये भ्रम भी काफी लोकप्रिय है कि इसके बाद व्यक्ति को बीपी की समस्या होती है। लेकिन इस बात से डॉक्टर्स भी मना करते हैं कि रक्तदान के बाद हाई या लो बीपी जैसी कोई समस्या होती है।

ये भी पढ़ें- International Yoga Day 2019 : PM मोदी ने बताए वज्रासन के लाभ, साथ ही जानें इसे करने का तरीका

इंफेक्शन फैलने का डर
रक्तदान के बाद लोगों को इंफेक्शन फैलने का डर रहता है। लेकिन ब्लड डोनेट करने के बाद किसी तरह का इंफेक्शन नहीं होता।

धूम्रपान करने वाले रक्तदान नहीं कर सकते
हां अगर आप धूम्रपान करते हैं, तो आप रक्तदान करने से ठीक एक घंटा पहले और बाद में स्मोकिंग नहीं कर सकते।

इतना समय नहीं है ब्लड डोनेट करें
कुछ लोगों का मानना है कि उनके पास इतना समय नहीं है कि वो ब्लड डोनेट कर सकें। लेकिन आपको बता दें कि रक्तदान की पूरी प्रक्रिया में केवल 15-20 मिनट का समय लगता है और रक्त निकालने में तो 5 मिनट से भी कम समय लगता है।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन