Live TV
GO
Hindi News लाइफस्टाइल हेल्थ HIV और AIDS दोनों बीमारी में...

HIV और AIDS दोनों बीमारी में हैं ये बड़े अंतर, जानिए इनसे जुड़ी दिलचस्प बाते

पूरी दुनिया में 9.8 मिलियन लोग अभी तक एड्स जैसी बीमारी को लेकर जागरुक ही नहीं है। लोगों को पता ही नहीं है कि वह एचआईवी पॉजीटिव का सही अर्थ क्या है? और एड्स क्या है?

India TV Lifestyle Desk
India TV Lifestyle Desk 30 Nov 2018, 14:06:45 IST

नई दिल्ली: 1 दिसंबर 2018 को वर्ल्ड एड्स दिवस' हर साल की पूरी दुनिया में मनाया जाएगा। पूरी दुनिया में 9.8 मिलियन लोग अभी तक एड्स जैसी बीमारी को लेकर जागरुक ही नहीं है। लोगों को पता ही नहीं है कि वह एचआईवी पॉजीटिव का सही अर्थ क्या है? और एड्स क्या है? इस दिन को मनाने के पीछे एक ही उद्देश्य है पूरी दुनिया को इस बीमारी को लेकर जागरुक करना। इस बार का वर्ल्ड एड्स दिवस का थीम है, इस बीमारी को लेकर आपका स्टेटस क्या है?

ज्यादातर लोग एचआईवी और एड्स को एक ही बीमारी मानते हैं। पर ऐसा होता नहीं। ये दोनों बीमारियां अलग-अलग हैं। ये आपस में जुड़े हुए हैं लेकिन दोनों का मतलब एक नहीं है। साथ ही इस बात हमेशा ख्याल रखें कि जरूरी नहीं कि एचआईवी के मरीज को एड्स हो।

क्या है HIV?
एचआईवी का मतलब होता है Human immunodeficiency Virus। ये वायरस सेक्स के माध्यम से फैलता है। सेक्स के माध्यम से ये आपके शरीर में तब प्रवेश करता है जब आप संक्रमित पुरुष या महिला के साथ असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करते हैं। यानी किसी को HIV है तो उसके साथ बिना प्रोटेक्शन के सेक्स से ये वायरस शरीर में प्रवेश कर जाता है। सेक्स के अलावा ये शरीर से निकलने वाले फ्लूइड जैसे की वैजाइना से निकलने वाला फ्लूइड या सिमेन, लार या ब्लड के संपर्क में आने से भी हो सकता है। HIV वायरस का टेस्ट करने पर जब रिपोर्ट पॉजिटिव आती है, तो उसे HIV Positive कहा जाता है।

AIDS क्या है?
AIDS यानी Acquired Immune Deficiency Syndrome। किसी एचआईवी पॉजिटिव व्यक्ति को एड्स होने में 10 साल तक का समय लग जाता है। इस स्टेज में व्यक्ति के शरीर की इम्युनिटी बेहद कम हो जाती है। उसे कई इन्फेक्शन एक साथ होने का खतरा रहता है।

HIV और AIDS में फर्क
एड्स को आप एचआईवी इन्फेक्शन की अगली स्टेज की तरह समझ सकते हैं। एचआईवी एक वायरस है, जो शरीर के इम्यून सिस्टम को बेहद कमजोर बना देता है। अगर सही समय पर एचआईवी  का इलाज शुरू ना किया जाए या एचआईवी  का पता ही ना चले तो शरीर में इंफेक्शन बढ़ने लगते हैं। फिर ये एड्स बन जाता है।

World AIDS Day
दुनिया भर में हर साल 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है। इस बार इसकी थीम है ‘Know your status’। यानी लोगों से अपील है कि वे अपने एचआईवी स्टेटस के बारे में पता लगाएं।

जानें लक्षण
डॉक्टर्स कहते हैं कि इस बीमारी के आरंभिक लक्षणों को पहचानना मुश्किल होता है। पर अगर आप एलर्ट हों तो ये संभव है। ये संक्रमण होने पर आपको बुखार होता है। लगातार थकान की शिकायत रह सकती है। सिर में लगातार दर्द रहना, गला खराब रहना भी इस गंभीर बीमारी का एक लक्षण हो सकता है। तेजी से वजन घटने लगे तो सतर्क रहें।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन

More From Health