Live TV
GO
  1. Home
  2. लाइफस्टाइल
  3. हेल्थ
  4. सावधान! गंदा पानी पीने से हो...

सावधान! गंदा पानी पीने से हो सकती है हेपेटाइटिस ए और ई बीमारियां

हेपेटाइटिस ए और ई बीमारियां गंदे और दूषित पानी के कारण ही होती हैं। हेपेटाइटिस ए और ई से बचने के लिए हाथों की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए और जहां तक संभव हो उबला हुआ पानी ही पीने के लिए प्रयोग करना चाहिए।

India TV Lifestyle Desk
Written by: India TV Lifestyle Desk 29 Jul 2018, 17:47:22 IST

हेल्थ डेस्क: हेपेटाइटिस ए और ई बीमारियां गंदे और दूषित पानी के कारण ही होती हैं। हेपेटाइटिस ए और ई से बचने के लिए हाथों की सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए और जहां तक संभव हो उबला हुआ पानी ही पीने के लिए प्रयोग करना चाहिए। मथुरा स्थित नयति मेडिसिटी के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. कपिल शर्मा ने कहा, "गर्भवती महिलाओं को साफ सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि उनके द्वारा गर्भ में पल रहा बच्चा भी गंदगी की चपेट में आ सकता है। सामान्य तौर पर अगर हेपेटाइटिस ई होता है तो वह ठीक भी हो जाता है लेकिन गर्भवती महिलाओं में हेपेटाइटिस ई जानलेवा साबित हो सकता है।" 

हेपेटाइटिस एक वायरस है जोकि दूषित रक्त की वजह से फैलता है, जिससे लीवर में सूजन आ जाती है और यही लीवर से जुड़ी गंभीर समस्याओं की वजह भी बन जाती है। पीलिया, उल्टियां, भूख, वजन कम होना, पेट की मांसपेशियों में दर्द होना तथा बुखार व थकान हेपेटाइटिस की वजह से हो सकते हैं।(भारत में सिर और गर्दन वाले कैंसर के 10 प्रतिशत मामले आए सामने, ये है लक्षण)

उन्होंने कुछ सुझाव देते हुए कहा, "हेपेटाइटिस बी का टीका लगवाएं, सुई, टूथब्रश एवं रेजर किसी के भी साथ शेयर न करें, पौष्टिक खुराक लें, रक्त की पूरी जांच के बाद ही चढ़वाएं, धूम्रपान एवं शराब के सेवन से बचें। हेपेटाइटिस का समय पर इलाज न कराने से लीवर सिरोसिस में बदल सकता है। पेट में पानी का आना, खून की उल्टी और बेहोशी का होना लीवर सिरोसिस के लक्षण हैं।" (बादाम, सोया, दाल अपने डाइट में करें शामिल और दिल की बीमारी से पाएं छुटकारा)

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Health News in Hindi के लिए क्लिक करें लाइफस्टाइल सेक्‍शन
Web Title: Viral Hepatitis A and E for Symptoms and Causes: सावधान! गंदा पानी पीने से हो सकती है हेपेटाइटिस ए और ई बीमारियां