Live TV
GO
Hindi News भारत उत्तर प्रदेश मथुरा में लट्ठमार होली, बरसाना के...

मथुरा में लट्ठमार होली, बरसाना के श्रीजी मंदिर में योगी आदित्यनाथ खेलेंगे होली

बरसाना की लट्ठमार होली हो या फिर गोकुल की फूल वाली होली या फिर मथुरा की लड्डुओं की होली, सीएम चाहते हैं हर रंग दुनिया देखे। योगी आदित्यनाथ मथुरा को अब नई पहचान और शहर को नया आयाम देना चाहते हैं ताकि ये उत्सव राष्ट्रीय से अंतराष्ट्रीय बन जाए।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 24 Feb 2018, 9:41:35 IST

नई दिल्ली: देश-विदेश में मशहूर मथुरा की होली जिसे लट्ठमार होली भी कहते में शामिल होने काफी संख्या में लोग पहुंचते हैं। इसी होली में शामिल होने आज प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंच रहे हैं। दरअसल सरकार की कोशिश है मथुरा की होली को दुनिया भर में पहचान मिल सके। देश विदेश से लोग, इसमें शामिल होने पहुंचे ताकि 5000 साल पुरानी परंपरा को एक नया आयाम मिल सके। इसी कोशिश में आज सीएम मथुरा में लट्ठमार होली खेलने वाले हैं। मथुरा के इस होली के रंग से सीएम योगी अब विदेशियों को भी रंगने की तैयारी में है।

बरसाना की लट्ठमार होली हो या फिर गोकुल की फूल वाली होली या फिर मथुरा की लड्डुओं की होली, सीएम चाहते हैं हर रंग दुनिया देखे। योगी आदित्यनाथ मथुरा को अब नई पहचान और शहर को नया आयाम देना चाहते हैं ताकि ये उत्सव राष्ट्रीय से अंतराष्ट्रीय बन जाए। सीएम योगी जानते हैं अगर वो यहां होली मनाने पहुंचेंगे तो कैमरे भी पहुचेंगे और ज्यादा से ज्यादा लोग लट्ठमार होली को जान पाएंगे। राधा रानी के प्यार के रंगों में ये शहर डूबने लग गया है और इसी रंग में डूबने को अब सीएम भी बेताब हैं। ऐसा पहली बार हो रहा है जब कोई यूपी का मुख्यमंत्री मुथरा में लट्ठमार होली खेलने पहुंचा हो।

क्यों खास है लट्ठमार होली?
-बरसाने की लट्ठमार होली फाल्गुन मास में मनाई जाती है
-नंदगांव वाले होली खेलने राधा रानी के गांव बरसाने जाते हैं
-लट्ठमार होली खेलने वाले पुरूषों को होरियारे कहा जाता है
-लट्ठमार होली खेलने वाली महिला को हुरियारिनों कहते हैं
-बरसाना की लठामार होली खेलने भगवान कृष्ण जाते थे
-राधारानी से होली खेलने भगवान कृष्ण बरसाना पहुंच जाते थे
-राधारानी और सखियां ग्वाल वालों पर डंडे बरसाया करती थीं
-लाठी की मार से बचने के लिए ग्वाल ढ़ालों का इस्तेमाल करते थे

बरसाना में 21 मंदिरों को शानदार तरीके से सजाया गया है और पूरे मथुरा में 51 मंदिरों को नया रंग दिया गया है। लट्ठमार होली के लिए फूलों से बने 6 हजार लीटर रंगों का इस्तेमाल होगा। गुलाल और कुन्तलों फूलों से भी आज होली खेली जाएगी। 1 लाख से ज्यादा लोगों को बरसाना पहुंचने की संभावना है। होली की सारी जिम्मेदारी सांसद हेमा मालिनी के पास है। जिस लट्ठमारी होली में आज सीएम योगी हिस्सा लेंगे दरअसल उसकी कहानी राधा और कृष्ण से जुड़ी है। कहा जाता कि भगवान कृष्ण नंदगांव से अपने सखाओं के साथ राधारानी और उनकी सखियों के साथ होली खेलने बरसाने पहुंच जाते थे जिसके बाद राधारानी और उनकी सखियां ग्वालों पर डंडे बरसाया करती थीं जिसके बाद से ये परंपरा बन गई और आज उस परंपरा को दुनिया भर में पहचान दिलाने सीएम योगी आदित्यनाथ पहुंच रहे हैं।

योगी की होली
-मथुरा के बरसाने में लट्ठमार होली का आयोजन
-बरसाना के श्रीजी मंदिर में सीएम होली खेलेंगे
-सीएम के साथ कई मंत्री भी होली में होंगे शामिल
-बरसाना के 21 मंदिरों में लट्ठमार होली के इंतजाम
-मथुरा में 51 मंदिरों को भव्य तरीके से सजाया गया
-मुथरा के गौशाला भी जाएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ
-बरसाना में सीएम योगी आदित्यनाथ रैली भी करेंगे
-होली को इंटरनेशनल बनाएंगे - सीएम योगी
-मथुरा-बरसाने में टूरिज्म बरसेगा - सीएम योगी

ऐसा पहली बार होगा जब कोई उत्तर प्रदेश का सीएम मुथरा में लट्ठमार होली खेलते हुए नजर आएंगे। खास बात ये है कि सीएम अकेले नहीं है पूरी कैबिनेट उनके साथ है। तकरीबन दो बजे के आसपास सीएम श्रीजी मंदिर पहुंचेंगे और उसके बाद शुरु होगी लट्ठमार होली। अब जब मुख्यमंत्री खुद ही इस उत्सव में शामिल होंगे तो स्वाभाविक है कि इस नगर की होली उत्सव की खास चर्चा हर ओर होगी। वैसे भी मथुरा की होली अपने खास अंदाज के लिए मशहूर है लेकिन इस बार बहुत खास हो गया है। होली के इस रंग में लोगों की इस भीड़ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी होंगे।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

More From Uttar Pradesh