Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. उत्तर प्रदेश
  4. VIDEO: कासगंज हिंसा के पीछे ...

VIDEO: कासगंज हिंसा के पीछे हैं ये तीन गुनहगार, जानिए क्या हुआ था 26 जनवरी को?

26 जनवरी को विश्व हिन्दू परिषद और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के कार्यकर्ताओं द्वारा मोटरसाइकिल पर निकाली जा रही तिरंगा यात्रा पर पथराव के बाद हिंसा भडक उठी थी। इसके बाद हुई आगजनी एवं फायरिंग में चंदन गुप्ता नाम के युवक की मौत हो गई

IndiaTV Hindi Desk
Written by: IndiaTV Hindi Desk 31 Jan 2018, 9:05:30 IST

कासगंज (उत्तर प्रदेश): कासगंज में अब हालात पूरी तरह काबू में हैं लेकिन पूरे शहर में भारी पुलिस फोर्स तैनात हैं। कासगंज में हिंसा पर आज यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी पहली बार बोले। योगी ने कहा कि सरकार अराजकता को बर्दाश्त नहीं करेगी और आज पुलिस के एक्शन में ये बात दिखाई दी। कासगंज में पुलिस ने आरोपियों की तलाश तेज कर दी है। 114 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है।

हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या के मामले में पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन जो तीन और आरोपी हैं वो फिलहाल फरार हैं, तीनों सगे भाई है। पुलिस ने आज इन तीनों के साथ सभी दूसरे आरोपियों के घरों पर दबिश दी कुछ आरोपियों के घर बंद मिले। दो जगहों पर पुलिस को दरवाजे तोड़कर घरों में दाखिल होना पड़ा। घरों की तलाशी ली गई, जो आरोपी घरों में नहीं मिले उनके घरों के सामने मुनादी कराई गयी।

हमारे चैनल इंडिया टीवी के संवाददाता भास्कर मिश्रा ने बताया कि आज पुलिस ने 12 घरों पर कुर्की का नोटिस चिपकाया। सभी आरोपियों को एक मार्च से पहले कोर्ट में हाजिर होने के लिए कहा गया है। अगर आरोपी 1 मार्च तक सरेंडर नहीं करते तो उनकी प्रॉपर्टी कुर्क कर ली जाएगी।

क्या है कासगंज मामला?

26 जनवरी को विश्व हिन्दू परिषद और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) के कार्यकर्ताओं द्वारा मोटरसाइकिल पर निकाली जा रही तिरंगा यात्रा पर पथराव के बाद हिंसा भडक उठी थी। इसके बाद हुई आगजनी एवं फायरिंग में चंदन गुप्ता नाम के युवक की मौत हो गई जबकि 2 अन्य घायल हो गए थे। इसके बाद कासगंज में रह-रहकर हिंसक वारदात हुईं और पूरा शहर जलने लगा। चारो तरफ आगजनी और तोड़फोड़ होने लगी। गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया, दुकान से लेकर मकान तक जला दिया गया।

चंदन गुप्ता का आखिरी वीडियो आया सामने

इस बीच कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन का आखिरी वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में चंदन एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ तिरंगा यात्रा निकलता हुआ नजर आ रहा है। बाइक पर सवार चंदन अपने दूसरे साथियों के साथ भारत माता की जय और वंदे मातरम् का नारा लगाते हुए जा रहा था। ये चंदन का आखिरी वीडियो है। बता दें कि ये बाइक रैली कुछ ही देर बाद बिलराम गेट इलाके में पहुंची इसके बाद दोनों पक्षों में विवाद हुआ और गोली चली जिसमें चंदन की जान चली गई।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार से मांगी कासगंज हिंसा पर रिपोर्ट

इस बीच आज केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार से कासगंज हिंसा पर रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्रालय ने यूपी सरकार से हिंसा की डिटेल रिपोर्ट भेजने को कहा है। राज्य सरकार से कहा गया है कि वो रिपोर्ट में ये भी बताए कि अबतक क्या क्या एक्शन लिए गए हैं और आरोपियों के खिलाफ क्या कार्रवाई हुई है।

कासगंज हिंसा पर किसने क्या कहा?

योगी आदित्यनाथ- कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा से उपजे तनाव के बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि उनकी सरकार राज्य के हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रति​बद्ध है और अराजकता फैलाने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। योगी ने कहा, ''हर नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है।'' उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार और अराजकता के लिए कोई स्थान नहीं है। ''भ्रष्टाचारियों और अराजकता फैलाने वालों से पूरी सख्ती से निपटा जाएगा।''

विनय कटियार- बीजेपी नेता विनय कटियार ने आज कहा कि तिरंगा यात्रा निकालने वाले अच्छा काम कर रहे थे लेकिन पाकिस्तान समर्थकों ने उस पर गोली चलाई। जो लोग पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे थे उन्हें जल्दी से जल्दी पकड़ना चाहिए। उन्होंने कहा, पुलिस ने इस मामले में लापरवाही की है अगर पुलिस वक्त पर एक्शन लेती तो  हिंसा को रोका जा सकता था।

साध्वी निरंजन ज्योति- केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने भी विनय कटियार की बात दोहराई जिसे पुलिस पहले ही झूठ और अफवाह बता चुकी है।

देखिए वीडियो-

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: VIDEO: कासगंज हिंसा के पीछे हैं ये तीन गुनहगार, जानिए क्या हुआ था 26 जनवरी को?