Live TV
GO
Hindi News भारत उत्तर प्रदेश मेरठ: संघ के इतिहास का सबसे...

मेरठ: संघ के इतिहास का सबसे बड़ा एकत्रीकरण, 2.5 लाख स्वयंसेवक शामिल होने का दावा

इस कार्यक्रम के लिए 3 लाख रजिस्ट्रेशन होने की बात कही है और कार्यक्रम में उपस्थित संख्या 2.50 लाख से ज्यादा रहने का दावा किया है।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 25 Feb 2018, 15:47:42 IST

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में रविवार  25 फरवरी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्वयंसेवक एकत्रीकरण का बड़ा कार्यक्रम शुरू हो गया है। राष्ट्रोदय नाम के इस कार्यक्रम में संघ के करीब 2.5 लाख स्वयंसेवक शामिल होने की बात कही जा रही है। साल 1925 में महाराष्ट्र के नागपुर शहर से शुरू हुए संघ के इतिहास का ये सबसे बड़ा एकत्रीकरण बताया जा रहा है। संघ अधिकारियों ने इस कार्यक्रम के लिए 3 लाख रजिस्ट्रेशन होने की बात कही है और कार्यक्रम में उपस्थित संख्या 2.50 लाख से ज्यादा रहने का दावा किया है। इस कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत स्वयं उपस्थित हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरी कर रहे हैं उनके अलावा बड़ी संख्या में साधू-संत इस कार्यकर्म में शामिल होने मेरठ पहुंचे हैं।

स्वयंसेवकों की बात करें तो सारे स्वयंसेवक पश्चिम उत्तर प्रदेश के करीब 1 दर्जन जिलों से इस कार्यकर्म में उपस्थित होने आए। इन जिलों में मेरठ के अलावा, गाजियाबाद, नोएडा, मुजफ्फरनगर, साहरनपुर जैसे जिले शामिल हैं। संघ के इतने बड़े कार्यक्रम को देखते हुए पूरे शहर को किले में तब्दील कर दिया गया। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रखे गए हैं। कार्यक्रम की सुरक्षा के लिए यूपी पुलिस ने पूरे जिले को 10 जोन और करीब 40 सेक्टरों में विभाजित किया है।  कार्यक्रम में शामिल होने वाले स्वयंसेवकों के भोजन की व्यवस्था भी परिवारों की तरफ से की गई हैं। संगठन की तरफ से मिल रही जानकारियों के हिसाब से मेरठ से पूड़ी/रोटियां मंगवाई गई हैं तो वहीं नोएडा को आचार उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी दी गई है। गाजियाबाद जिले के स्वयंसेवक सब्जी की व्यवस्था संभाल रहे हैं तो वहीं बुलंदशहर पानी की व्यवस्था करेगा। ये कार्यक्रम देर शाम तक चलेगा। इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण संघ के फेसबुक पेज और डीडी न्यूज पर भी किया जा रहा है।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन