Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राजनीति
  4. शीला दीक्षित ने किया बड़ा खुलासा,...

शीला दीक्षित ने किया बड़ा खुलासा, जानिए दिल्ली में कांग्रेस की क्यों हुई बुरी हार

शीला दीक्षित 2012 में ही मुख्यमंत्री के पद से हटना चाहती थीं लेकिन 16 दिसंबर की सामूहिक बलात्कार की घटना के चलते उन्होंने इरादा बदल लिया और अपने पद पर बने रहने का दृढ़ निश्चय कर लिया...

Bhasha
Reported by: Bhasha 21 Jan 2018, 17:50:57 IST

नई दिल्ली: शीला दीक्षित स्वास्थ्य कारणों एवं कांग्रेस के लिए अगले विधानसभा चुनाव से पहले उनकी जगह कोई अन्य नेता ढूंढ लेने का मार्ग प्रशस्त करने लिए 2012 में ही मुख्यमंत्री के पद से हटना चाहती थीं लेकिन 16 दिसंबर की सामूहिक बलात्कार की घटना के चलते उन्होंने इरादा बदल लिया और अपने पद पर बने रहने का दृढ़ निश्चय कर लिया।

पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने संस्मरण में कहा है कि ऐसे में इस्तीफा देना ‘समरभूमि’ से पलायन समझा जाता। उन्होंने अपनी पुस्तक ‘देल्ही: माई टाईम्स, माई लाईफ’ में लिखा है, ‘‘निर्भया घटना के बाद मैं एक स्थिति में घिर गई थी। मेरे परिवार, जिसने उस दौरान मेरा दबाव देखा था, ने मुझसे पूर्व की योजना के हिसाब से पद से हट जाने की अपील की लेकिन मैंने महसूस किया कि इस प्रकार के कदम को समरभूमि से पलायन समझा जाएगा।’’

हाल में प्रकाशित इस संस्मरण में पाठक दिल्ली में सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के सफर की झलक पा सकते हैं। शीला दीक्षित ने बतौर मुख्यमंत्री अपने तीन कार्यकाल, दिल्ली में उनके द्वारा लाए गए बदलावों, उनके सामने आई मुश्किलें और 2013 की चुनावी हार समेत कई विषयों पर लिखा है।

'AAP को कमतर आंका था'

उन्होंने पुस्तक में कहा है, ‘‘हमारी पार्टी स्पष्ट तौर पर हार गई। मैं खुद आप के अरविंद केजरीवाल के हाथों प्रतिष्ठित नई दिल्ली सीट पर 25000 से अधिक वोटों के अंतर से हार गई। हम में से कई ने आप को कमतर आंका था।’’

उनके अनुसार ऐसे कई लोग थे जिन्होंने इस हार को केंद्र सरकार के विरुद्ध जनाक्रोश का परिणाम माना क्योंकि दिल्ली सरकार की पहचान संप्रग द्वितीय के साथ होती थी क्योंकि वह कांग्रेस नीत सरकार थी।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: शीला दीक्षित ने किया बड़ा खुलासा, जानिए दिल्ली में कांग्रेस की क्यों हुई बुरी हार