Live TV
GO
Hindi News भारत राजनीति तृणमूल कांग्रेस ने बागी सदस्यों के...

तृणमूल कांग्रेस ने बागी सदस्यों के भाजपा में शामिल होने पर दी चेतावनी, कहा- बीजेपी में शामिल होने के बावजूद उन्हें परिणाम भुगतने होंगे

तृणमूल कांग्रेस ने पंचायतों और नगर पालिकाओं के सदस्यों के भाजपा में शामिल होने पर कहा कि भाजपा में शामिल होने से उनके कुकर्मों और अपराधों धुल नही जाएंगे।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 24 Jun 2019, 0:04:18 IST

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस ने पंचायतों और नगर पालिकाओं के सदस्यों के भाजपा में शामिल होने पर कहा कि भाजपा में शामिल होने से उनके कुकर्म और अपराध धुल नही जाएंगे। तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा में शामिल होने वाले कुछ लोगों को सवार्थी बताया और कहा कि अगर उन्होनें गलत काम किए है तो भाजपा में शामिल होने के बावजूद उन्हें परिणाम भुगतने होंगे। 

Related Stories

तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने भी पार्टी नेताओं को चेताया था कि जो सरकारी योजनाओं में या किसी अन्य तरह से भ्रष्टाचार में शामिल हैं उन्हें जेल भेजा जाएगा। राज्य की मुख्यमंत्री बनर्जी ने यह चेतावनी ऐसे समय दी थी जब नदिया जिले में संगठन की बैठक हुई है जहां तृणमूल कांग्रेस को दो में से एक लोकसभा सीट पर भाजपा के हाथों हार झेलनी पड़ी।

नदिया जिले से एक वरिष्ठ तृणमूल नेता ने कहा, ‘‘हमारी पार्टी प्रमुख ने हमें भ्रष्टाचार में शामिल होने के खिलाफ चेताया है और हमसे कहा है कि अगर हमने किसी से ‘कट मनी’ ली है तो उसे वापस किया जाए। उन्होंने हमसे कहा है कि अगर कोई सरकारी योजनाओं का लाभ देने के लिए ‘कट मनी’ लेते हुए पाया गया तो उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।’’ 

आपको बता दें कि हाल ही में पश्चिम बंगाल से तीन विधायक एवं 50 से अधिक पार्षद मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए थे जिसमें भाजपा नेता मुकुल राय के पुत्र शुभ्रांशू राय शामिल हैं। 2016 में पश्चिम बंगाल में 294 सदस्यीय विधानसभा के लिये हुए चुनाव में तृणमूल कांग्रेस को 211 सीटों पर जीत मिली थी जबकि भाजपा को सिर्फ तीन सीट हासिल हुई थी। इसके बाद से भाजपा मजबूत होते हुए मुख्य प्रतिद्वन्द्वी बन गई है। लोकसभा चुनाव में प्रभावकारी प्रदर्शन के बाद भाजपा राज्य में अपनी स्थिति और मजबूत बनाने में लगी है।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

More From Politics