Live TV
GO
Hindi News भारत राजनीति राममंदिर पर मणिशंकर अय्यर का भड़काऊ...

राममंदिर पर मणिशंकर अय्यर का भड़काऊ बयान, फिर मुश्किल में कांग्रेस

ये पहली बार नहीं है जब मणिशंकर अय्यर ने अपने बयानों से कांग्रेस का सबसे ऊंचा तख्त हिला दिया हो। पिछले साल अप्रैल में पार्टी अय्यर से इतनी नाराज हो गई कि उनकी प्राथमिक सदस्यता तक छीन ली थी लेकिन इसके बाद भी मणिशंकर अय्यर का मन नहीं बदला है।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 08 Jan 2019, 7:37:10 IST

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के बयान से एक बार फिर कांग्रेस फंस गई है। इस बार उन्होंने राम मंदिर मुद्दे की आग को भड़काने वाला बयान दिया है। अय्यर ने कहा है कि ये कैसे मान लिया जाए कि अयोध्या नरेश का जन्म विवादित भूमि पर ही हुआ था। अब तक मणिशंकर अय्यर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी को लेकर बोलते थे लेकिन इस बार उन्होंने भगवान राम के अयोध्या में होने और ना होने के अस्तित्व को चुनौती दे दी है। मणिशंकर अय्यर के इस रामायण ज्ञान पर अब महाभारत तय है।

मणिशंकर अय्यर का कहना है कि महाराज दशरथ के महल में 1000 कमरे थे और ये जरुरी तो नहीं जहां भगवान राम ने जन्म लिया वो विवादित स्थल ही है। अब इस बयान पर सोशल मीडिया पर गदर मचा हुआ है। बीजेपी वाले मणिशंकर अय्यर से पूछ रहे हैं कि आपके बर्थ सर्टिफिकेट में कमरे का भी जिक्र है क्या?

Related Stories

ये पहली बार नहीं है जब मणिशंकर अय्यर ने अपने बयानों से कांग्रेस का सबसे ऊंचा तख्त हिला दिया हो। पिछले साल अप्रैल में पार्टी अय्यर से इतनी नाराज हो गई कि उनकी प्राथमिक सदस्यता तक छीन ली थी लेकिन इसके बाद भी मणिशंकर अय्यर का मन नहीं बदला है। इस बार मणिशंकर अय्यर की जुबान से ऐसे मुद्दे पर विवादित बोल निकला है जो करोड़ों हिंदुओं की आस्था से जुड़ा है।

मणिशंकर अय्यर कांग्रेस के पुराने नेता हैं और उनके बयानों को ना बीजेपी हल्के में लेती है और ना कांग्रेस। फर्क सिर्फ ये है कि हर बार फायदा बीजेपी को और नुकसान कांग्रेस को होता है। अयोध्या मामले पर कांग्रेस के बड़े नेता भी बचकर बोलते हैं लेकिन मणिशंकर अय्यर ने जो कहा है उससे बचकर निकलने के कांग्रेस के पास दो ही रास्ते हैं। या तो बयान से किनारा कर ले या फिर मणिशंकर अय्यर को फिर से कांग्रेस से किनारा कर दे।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

More From Politics