Live TV
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. तारिक फतह EXCLUSIVE: नॉन सीरियस किस्म...

तारिक फतह EXCLUSIVE: नॉन सीरियस किस्म के लोगों के हाथ में पाकिस्तान की हुकूमत

पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई लेखक तारिक फतह ने इंडिया टीवी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख बाजवा पर निशाना साधते हुए कहा कि नॉन सीरियस किस्म के लोगों के हाथ में पाकिस्तान की हुकूमत है।

IndiaTV Hindi Desk
Written by: IndiaTV Hindi Desk 07 Sep 2018, 23:50:44 IST

नई दिल्ली: पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई लेखक तारिक फतह ने इंडिया टीवी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख बाजवा पर निशाना साधते हुए कहा कि नॉन सीरियस किस्म के लोगों के हाथ में पाकिस्तान की हुकूमत है। ये लोग यही मानते हैं कि अल्लाह का हुक्म है कि आखिरी बुतपरस्त तक को खत्म करना है। उनके निशाने पर हिंदुस्तान है और हिंदुस्तान को खत्म करने के लिए पाकिस्तान बना है। 

तारिक फतह ने कहा कि इमरान खान ऐसा शख्स है जिसने कभी किसी दफ्तर में काम ही नहीं किया। उन्होंने कहा, 'अक्ल से पैदल शख्स न्यूक्लियर स्टेट का हेड बना है.. निहायत ही बेवकूफ आदमी है.. अभी भी कह रहा है कि हेलिकॉप्टर में तेल कम खर्च करे... तीन पेन की जगह एक पेन रखो।' तारिक फतह ने कहा कि 1965 में इंडिया की फौज लाहौर तक पहुंच गई थी। 65 का युद्ध पाकिस्तान बुरी तरह से हार गया था लेकिन भारत ने उस मौके को गंवा दिया। 

उन्होंने कहा कि 1971 में भी यही स्थिति थी और उस वक्त भी भारत ने अपने हाथ में आए मौके को जाने दिया। 1971 में लंदन में बांग्लादेश के फॉरेन मिनिस्टर ने बलूचिस्तान से कहा कि आप स्वतंत्रता की घोषणा करें। लेकिन ये चीजें नहीं हो सकी। उन्होंने कहा पाकिस्तान जैसा मुल्क अंधेरे में बना है। ये लोग बेगैरत हैं और हारने के बाद कहते हैं कि शराब पिलाओ। वहीं जनरल बाजवा पर तंज कसते हुए फतह ने कहा कि पाकिस्तान का जनरल बना हुआ है लेकिन इसने कभी एक फायरिंग भी नहीं की होगी। जितने भी मेडल इसने लगा रखे हैं सब फर्जी हैं।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी रीड करते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें khabarindiaTv का भारत सेक्‍शन
Web Title: तारिक फतह EXCLUSIVE: नॉन सीरियस किस्म के लोगों के हाथ में पाकिस्तान की हुकूमत: Tarek fatah EXCLUSIVE: Pakistan's rule in the hands of non-serious people