Live TV
GO
Hindi News भारत राष्ट्रीय Rajat Sharma Blog: 1984 के सिख...

Rajat Sharma Blog: 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर सैम पित्रोदा के बयान से पंजाब में कांग्रेस को हो सकता है नुकसान

1984 से पंजाब के मतदाताओं के बीच सिख विरोधी दंगा बहुत भावनात्मक और दर्दनाक मुद्दा रहा है, राहुल गांधी ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि उन्होंने पित्रोदा को फटकार लगाई है और अपने बयान पर माफी मांगने के लिए भी बोला है।

Rajat Sharma
Rajat Sharma 14 May 2019, 20:05:18 IST

राहुल गांधी के गुरु सैम पित्रोदा द्वारा 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े बयान ‘हुआ तो हुआ’ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कांग्रेस और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमले जारी रखे।

पंजाब के भटिंडा में तथा अन्य राज्यों में हुई रैलियों में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस को 'एक भ्रमित नेता और विचलित सोच वाली पार्टी' बताया। मोदी ने पूछा कि क्या राहुल गांधी ने 1984 के दंगों के बारे में राहुल के परिवार की सोच का खुलासा करने के लिए पित्रोदा को फटकार लगाई है। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि पित्रोदा, 'जिन्हें एक सलाहकार बताया जाता है, और जो खास तौर पर अमेरिका से आए हैं', उनके द्वारा दिया गया ‘हुआ तो हुआ’ बयान पार्टी की सोच और अहंकार को दर्शाता है। 

पंजाब की 13 सीटों पर लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है। 1984 से पंजाब के मतदाताओं के बीच सिख विरोधी दंगा बहुत भावनात्मक और दर्दनाक मुद्दा रहा है, राहुल गांधी ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि उन्होंने पित्रोदा को फटकार लगाई है और अपने बयान पर माफी मांगने के लिए भी बोला है। 

पित्रोदा के इस ‘सेल्फ गोल’ ने प्रधानमंत्री मोदी को एक मौका दे दिया है जिससे वे पार्टी को हरा सकें, प्रधानमंत्री मोदी एक के बाद एक अपनी रैलियों में श्रोताओं को उत्साहित करने के लिए कांग्रेस के कार्यकाल की सारी गलतियों को ‘हुआ तो हुआ’ बयान से जोड़ रहे हैं। 

पित्रोदा का राजनीतिक तौर पर आपत्तिजनक बयान, जिसके लिए वे माफी भी मांग चुके हैं, पंजाब में कांग्रेस पार्टी के लिए महंगा साबित हो सकता है। (रजत शर्मा

देखें, 'आज की बात' रजत शर्मा के साथ, 13 मई 2019 का पूरा एपिसोड

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन