Live TV
GO
Hindi News भारत राष्ट्रीय PNB Fraud: नीरव मोदी और मेहुल...

PNB Fraud: नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को सीबीआई ने फिर सम्मन भेजा

केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने अरबपति नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी को जांच से जुड़ने के लिए आज फिर सम्मन भेजा

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 08 Mar 2018, 20:30:09 IST

नयी दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने अरबपति नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी को यथाशीघ्र जांच से जुड़ने के लिए आज फिर सम्मन भेजा और दोनों को स्पष्ट किया कि जांच एजेंसी के साथ सहयोग करना उनका दायित्व बनता है। जांच एजेंसी ने 19, 23 और 28 फरवरी को सम्मन भेजा था और उनसे यथाशीघ्र जांच से जुड़ने को कहा था। उन्हें सात मार्च को पेश होने को कहा गया था। 

गीतांजलि जेम्स के प्रवर्तक चोकसी ने सात पन्नों के अपने जवाबी पत्र में कहा है कि उसका पासपोर्ट निलंबित होने तथा उसके खराब स्वास्थ्य के चलते उसके लिए भारत लौटना तथा जांच से जुड़ना असंभव है। चोकसी के वकील ने यह पत्र जारी किया। पेशी के संबंध में सीबीआई द्वारा जारी नोटिस पर अपने विस्तृत ई- मेल जवाब में चोकसी ने कहा कि अधिकारियों ने उसका पासपोर्ट निलंबित कर दिया और वह इलाज करा रहा है। सोलह फरवरी को उसे पासपोर्ट कार्यालय से ई- मेल मिला था जिसमें उसे बताया गया था कि भारत पर सुरक्षा खतरे के चलते उसका यात्रा दस्तावेज निलंबित कर दिया गया है। हालांकि मुम्बई के क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने उसे उसके पासपोर्ट के निलंबन का कारण नहीं बताया या यह कि वह कैसे सुरक्षा खतरा है। 

उसने कहा, ‘‘मैं अपनी स्वास्थ्य समस्याओं की वजह से यात्रा करने की स्थिति में नहीं हूं। मेरी फरवरी,2018 के पहले हफ्ते में हृदय चिकित्सा हुई थीतथा उस संबंध में अभी और कुछ प्रक्रियाएं होनी हैं। किडनी को खतरे की वजह से पूरी प्रक्रिया सभी शिराओं पर पूरी नहीं की जा सकती अत: मुझे अगले कम से कम चार से छह महीने तक यात्रा करने की इजाजत नहीं है।’’ इसी तर्ज पर नीरव मोदी ने जवाब दिया और कहा कि वह भी जांच से जुड़ने के लिए भारत नहीं आ सकता। अधिकारियों के अनुसार अपने कड़े जवाब में सीबीआई ने उन्हें कहा है कि वे जिस किसी भी देश में हैं, वहीं वे भारतीय मिशन से संपर्क करें, ताकि भारत की उनकी यात्रा का तत्काल इंतजाम कराया जा सके। 

सीबीआई ने इससे पहले दोनों को मुम्बई में पंजाब नेशनल बैंक की ब्रैडी हाउस शाखा से धोखाधड़ी से आश्वासन पत्र( एलओयू) एवं ऋणपत्र( एलओसी) जारी करवाने से संबद्ध दो अरब डॉलर के घोटाले की जांच से जुड़ने को कहा था। आरोप है कि चोकसी और नीरव की मामा- भांजे की जोड़ी की कंपनियों को स्विफ्ट संदेशों के माध्यम से पीएनबी की ब्रैडी रोड शाखा से दो अरब डॉलर के एलओयू और एलओसी जारी किये गये थे। निगरानी से बचने के लिए इन स्विफ्ट संदेशों को पीएनबी के बैंकिंग सॉफ्टवेयर में प्रविष्ट नहीं किया गया। 

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

More From National