Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. नेताजी की जयंती आज, लाल किले...

नेताजी की जयंती आज, लाल किले में पीएम मोदी ने किया संग्रहालय का उद्घाटन

बोस और आजाद हिंद फौज पर संग्रहालय में सुभाष चंद्र बोस और आईएनए से संबंधित विभिन्न वस्तुओं को प्रदर्शित किया गया है। इसमें नेताजी द्वारा इस्तेमाल की गई लकड़ी की कुर्सी और तलवार के अलावा आईएनए से संबंधित पदक, बैज, वर्दी और अन्य वस्तुएं शामिल हैं।

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 23 Jan 2019, 9:55:27 IST

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज लाल किले में सुभाष चंद्र बोस म्यूजियम का उद्घाटन किया। इस म्यूजियम में नेताजी के जीवन से जुड़ी चीजों को रखा गया है। बता दें कि आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 122वीं जयंती है जिस मौके पर पीएम ने म्यूजियम का उद्धाटन किया। पीएम सुबह करीब साढ़े 9 बजे सुभाष चंद्र बोस की याद में बने म्यूजियम का उद्घाटन किया और इसके बाद यहां पर मौजूद तमाम वस्तुओं का अवलोकन किया।

प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में बताया कि मोदी उसी जगह पर याद-ए-जलियां संग्रहालय (जलियांवाला बाग और प्रथम विश्वयुद्ध पर संग्रहालय) और 1857 (प्रथम स्वतंत्रता संग्राम) पर म्यूजियम और भारतीय कला पर दृश्यकला म्यूजियम भी जाएंगे।

बोस और आजाद हिंद फौज पर संग्रहालय में सुभाष चंद्र बोस और आईएनए से संबंधित विभिन्न वस्तुओं को प्रदर्शित किया गया है। इसमें नेताजी द्वारा इस्तेमाल की गई लकड़ी की कुर्सी और तलवार के अलावा आईएनए से संबंधित पदक, बैज, वर्दी और अन्य वस्तुएं शामिल हैं।

बता दें कि आज से शुरू हुए इस म्यूजियम में सुभाष चंद्र बोस और आईएनए से संबंधित विभिन्न वस्तुओं को प्रदर्शित किया गया है। इस म्यूजियम में आजाद हिंद फौज के बारे में भी लोगों को जानकारी मिलेगी। 

इसके अलावा नेताजी पर बने म्यूजियम में सुभाष चंद्र बोस की जिंदगी और संघर्ष से जुड़ी तमाम चीजों रखी गई हैं। इस म्यूजियम की आधारशिला भी पीएम मोदी ने 21 अक्टूबर 2018 को रखी थी, जिसके बाद बुधवार को इसका उद्घाटन किया गया।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: नेताजी की जयंती आज, लाल किले में पीएम मोदी ने किया संग्रहालय का उद्घाटन - PM Modi inaugurates Netaji Subhas Chandra Bose museum at Red Fort