Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. भारत का एक ऐसा समुदाय जहां...

भारत का एक ऐसा समुदाय जहां पहली रात होता है दुल्हनों का वर्जिनिटी टेस्ट, फेल होने पर उतरवा दिए जाते हैं कपड़े

इस कुप्रथा के नाम पर इस समुदाय की महिलाओं का शोषण होता है। उनके वर्निनिटी में ‘फेल’ होने पर कपड़े उतारना, शरीर के अंगों को दागना, खौलते तेल में से सिक्का निकालने के लिए कहना जैसे दंड दिए जाते हैं।

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 23 Jan 2018, 14:40:11 IST

नई दिल्ली: एक कुप्रथा को लेकर शर्मसार कर देने वाला मामला महाराष्ट्र के पुणे जिले के पिंपरी इलाके से सामने आया है। यहां वर्जिनिटी टेस्ट कुप्रथा के खिलाफ आवाज उठाने वाले तीन लोगों से मारपीट की खबर है जिसके बाद दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। बता दें कि कंजरभाट समुदाय में शादी के बाद लड़कियों के कुंवारे होने की जांच होती है। शादी की रात लड़के के परिवार की महिलाएं यह जांच करती हैं। इसके बाद लड़के को उसके साथ कमरे में भेजा जाता है। उनके बिस्तर पर एक सफेद कपड़ा बिछाया जाता है। शादी के अगले दिन यदि इसपर खून के निशान मिलते हैं तो लड़की को पवित्र माना जाता है।

इस समुदाय में शादी के अगले दिन पंचायत की बैठक होती है। यहां लड़के से पूछा जाता है कि लड़की का ‘चरित्र’ ठीक है या नहीं। बिस्तर के ऊपर बिछे सफेद कपड़े को पंचायत को सौंपा जाता है। इसपर खून के निशान होते हैं तो पंचायत शादी को मान्यता देती है नहीं तो लड़की को वापस उसके घर भेज दिया जाता है। फिर इस लड़की की शादी कभी नहीं हो पाती।

इस कुप्रथा के नाम पर इस समुदाय की महिलाओं का शोषण होता है। उनके वर्निनिटी में ‘फेल’ होने पर कपड़े उतारना, शरीर के अंगों को दागना, खौलते तेल में से सिक्का निकालने के लिए कहना जैसे दंड दिए जाते हैं। इस समुदाय में तकरीबन ढाई लाख सदस्य हैं, जो ज्यादातर संगमनेर, सांगली, पुणे जिले में बसे हैं। उन की ताकतवर जात पंचायत है। कुछ साल पहले इस समुदाय का अंडमान निकोबार द्वीप समूह पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन हुआ था। इस में भारत से तकरीबन 4 सौ सदस्य शामिल हुए थे।

कंजरभाट समुदाय के कुछ युवाओं ने अपनी जाति पंचायत के कथित अन्यायपूर्ण व्यवहारों और 'वर्जिनिटी टेस्ट' के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। युवाओं ने एक 'स्टॉप द V रिचुअल' नाम से वॉट्सऐप ग्रुप बनाया है, जिसमें करीब 40 सदस्य हैं। पुणे की रहने वाली और इस ग्रुप की सदस्य प्रियंका तमाईचेकर ने कहा कि 'वी' का मतलब वर्जिनिटी टेस्ट से है। उन्होंने कहा, 'आज भी कंजरभाट समुदाय में दुल्हनों का वर्जिनिटी टेस्ट होता है।

ऐसी पंचायतों के सामाजिक बहिष्कार के खिलाफ ‘प्रोटेक्शन औफ पीपल फ्रॉम सोशल बायकौट ऐक्ट 2016’ कानून पास करवाने वाला महाराष्ट्र पहला राज्य है। इस कानून को राष्ट्रपति के दस्तखत का इंतजार है। अगर यह कानून पास हो गया, तो पंचायत के ऐसे नियम बंद हो जाएंगे।

समाजसेवकों का कहना है कि जागरूक होना बहुत जरूरी है। इस तरह की टेस्ट से एक औरत की बेइज्जती होती है, यह अपराध है। एक मर्द को 2 बार शादी करने पर जब किसी को कोई एतराज नहीं है, तो एक औरत के कुंआरेपन पर इतना तमाशा क्यों?

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: kanjarbhat community virginity test भारत का एक ऐसा समुदाय जहां पहली रात होता है दुल्हनों का वर्जिनिटी टेस्ट, फेल होने पर उतरवा दिए जाते हैं कपड़े