Live TV
GO
Hindi News भारत राष्ट्रीय प्रधानमंत्री के सामने सर्जिकल स्ट्राइक का...

प्रधानमंत्री के सामने सर्जिकल स्ट्राइक का विकल्प आने के 6 दिन बाद ही सेना ने दे दिया था इसे अंजाम: पूर्व सेना प्रमुख

2016 में आज ही के दिन भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में प्रवेश कर उसके आतंकी शिविरों को नेस्तनाबूद कर दिया था। जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में एलओसी के पास भारतीय सेना के स्थानीय मुख्यालय पर आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे।

India TV News Desk
India TV News Desk 29 Sep 2018, 15:47:41 IST

नई दिल्ली: सर्जिकल स्ट्राइक के समय सेना प्रमुख रहे पूर्व जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने आज कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लिया गया एक बेहद ही साहिसक फैसला था। पूर्व सेना प्रमुख ने कहा, ''मैंने 23 सितंबर 2016 को प्रधानमंत्री को ब्रीफ किया और उनके सामने उपलब्ध विकल्पों को रखा। उचित विचार-विमर्श के बाद प्रधानमंत्री ने उस विकल्प को मंजूरी दी जिसकी हमने अनुशंसा की थी। हमने उस विकल्प पर सफलतापूर्वक काम किया और देश का सिर गर्व से ऊंचा किया। यह प्रधानमंत्री द्वारा लिया गया एक बेहद ही साहसिक निर्णय था।''

उन्होंने कहा, ''हम पाकिस्तान को एक कड़ा संदेश देना चाहते थे कि हम एलओसी को पार कर सकते हैं। हम उनके ऊपर हमला कर सकते हैं, और उन्हें बड़ा नुकसान पहुंचाकर बगैर किसी कैजुअल्टी के वापस भी लौट सकते हैं। यह एक कठिन और बेहद चुनौतीपूर्ण विकल्प था, लेकिन हमने एक संदेश भेजने के लिए इस विकल्प का इस्तेमाल किया कि हम ऐसा कर सकते हैं।''

आपको बता दें कि 2016 में आज ही के दिन भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में प्रवेश कर उसके आतंकी शिविरों को नेस्तनाबूद कर दिया था। जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में एलओसी के पास भारतीय सेना के स्थानीय मुख्यालय पर आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे। इसे भारतीय सेना पर सबसे बड़े हमलों में से एक माना गया था, जिसका बदला भारत ने सर्जिकल स्ट्राइक करके ले लिया।

India Tv Hindi पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

More From National