Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. लगातार चौथे दिन खतरनाक रही दिल्ली...

लगातार चौथे दिन खतरनाक रही दिल्ली की हवा, जल्द सुधार के आसार भी नहीं

देश की राजधानी दिल्ली इस समय प्रदूषण का सबसे भयानक रूप देख रही है। 

IndiaTV Hindi Desk
Edited by: IndiaTV Hindi Desk 25 Dec 2018, 14:33:51 IST

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली इस समय प्रदूषण का सबसे भयानक रूप देख रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को लगातार चौथे दिन ‘गंभीर’ श्रेणी में बनी रही। अधिकारियों ने बताया कि मौसमी परिस्थितियां प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए प्रतिकूल बनी हुई हैं। दीपावली के बाद से ही शहर प्रदूषण के सबसे बुरे संकट का सामना कर रहा है। प्रदूषण की खराब हालत का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि डॉक्टर लोगों को जरूरी काम से ही घर से बाहर निकलने की हिदायत दे रहे हैं।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के डेटा के मुताबिक, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 416 के ‘गंभीर’ स्तर पर रहा वहीं केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (SAFAR) ने 423 AQI दर्ज किया। CPCB के मुताबिक, सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के 25 इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई जबकि 9 इलाकों में यह बहुत खराब श्रेणी में रही। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद में गंभीर वायु प्रदूषण दर्ज किया गया जबकि गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ रही।

CPCB ने बताया कि यहां हवा में अतिसूक्ष्म कणों पीएम 2.5 का स्तर 271 रहा जबकि पीएम 10 का स्तर 422 दर्ज किया गया। शनिवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई थी। राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को इस साल का दूसरा सबसे ज्यादा प्रदूषण स्तर दर्ज किया गया जब AQI 450 पहुंच गया था। सफर के मुताबिक, दिल्ली में मंगलवार तक AQI ‘गंभीर’ श्रेणी में बना रहेगा। 

सफर ने कहा, ‘मंगलवार की देर शाम तक सुधार की संभावना है जब रेडिएशन फॉग पर्याप्त धूप से बिखर सकेगा। प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए वायु की गति और वेंटिलेशन सूचकांक बेहद प्रतिकूल है।’ इसने बताया कि सोमवार को वेंटिलेशन सूचकांक प्रति सेकेंड 5,000 वर्ग मीटर रहा। EPCA के प्रमुख भूरे लाल ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के गंभीर स्तर को देखते हुए प्रदूषण फैलाने वाले मुख्य केंद्रों वजीरपुर, मुंडका, नरेला, बवाना, साहिबाबाद और फरीदाबाद में औद्योगिक गतिविधियां और दिल्ली-एनसीआर में निर्माण कार्य बुधवार तक बंद रहेंगे।लगातार चौथे दिन खतरनाक रही दिल्ली की हवा, जल्द सुधार के आसार भी नहीं
Delhi's air quality remains 'severe' for the fourth consecutive day
Delhi air quality, Delhi air quality today, Delhi weather today, Air pollution, Air pollution Delhi, pollution in Delhi, दिल्ली प्रदूषण, पंजाब पराली, Delhi Air, दिल्ली हवा गुणवत्ता, Delhi air quality CPCB, Delhi air quality SAFAR
Delhi's air quality remains 'severe' for the fourth consecutive day | PTI File
नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली इस समय प्रदूषण का सबसे भयानक रूप देख रही है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दिल्ली की वायु गुणवत्ता मंगलवार को लगातार चौथे दिन ‘गंभीर’ श्रेणी में बनी रही। अधिकारियों ने बताया कि मौसमी परिस्थितियां प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए प्रतिकूल बनी हुई हैं। दीपावली के बाद से ही शहर प्रदूषण के सबसे बुरे संकट का सामना कर रहा है। प्रदूषण की खराब हालत का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि डॉक्टर लोगों को जरूरी काम से ही घर से बाहर निकलने की हिदायत दे रहे हैं।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के डेटा के मुताबिक, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 416 के ‘गंभीर’ स्तर पर रहा वहीं केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (SAFAR) ने 423 AQI दर्ज किया। CPCB के मुताबिक, सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के 25 इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई जबकि 9 इलाकों में यह बहुत खराब श्रेणी में रही। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद में गंभीर वायु प्रदूषण दर्ज किया गया जबकि गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता ‘बहुत खराब’ रही।

CPCB ने बताया कि यहां हवा में अतिसूक्ष्म कणों पीएम 2.5 का स्तर 271 रहा जबकि पीएम 10 का स्तर 422 दर्ज किया गया। शनिवार को दिल्ली की वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई थी। राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को इस साल का दूसरा सबसे ज्यादा प्रदूषण स्तर दर्ज किया गया जब AQI 450 पहुंच गया था। सफर के मुताबिक, दिल्ली में मंगलवार तक AQI ‘गंभीर’ श्रेणी में बना रहेगा। 

सफर ने कहा, ‘मंगलवार की देर शाम तक सुधार की संभावना है जब रेडिएशन फॉग पर्याप्त धूप से बिखर सकेगा। प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए वायु की गति और वेंटिलेशन सूचकांक बेहद प्रतिकूल है।’ इसने बताया कि सोमवार को वेंटिलेशन सूचकांक प्रति सेकेंड 5,000 वर्ग मीटर रहा। EPCA के प्रमुख भूरे लाल ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण के गंभीर स्तर को देखते हुए प्रदूषण फैलाने वाले मुख्य केंद्रों वजीरपुर, मुंडका, नरेला, बवाना, साहिबाबाद और फरीदाबाद में औद्योगिक गतिविधियां और दिल्ली-एनसीआर में निर्माण कार्य बुधवार तक बंद रहेंगे।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: Delhi's air quality remains 'severe' for the fourth consecutive day