Live TV
GO
Hindi News भारत राष्ट्रीय बंगाल संकट: ‘ममता Vs मोदी सरकार’...

बंगाल संकट: ‘ममता Vs मोदी सरकार’ में बदली ‘CBI Vs पुलिस’ की 'जंग', दिनभर चला राजनीतिक ड्रामा

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रविवार की शाम से जारी हाईवोल्टेज ड्रामा थमता नज़र नहीं आ रहा है। कमिश्नर राजीव कुमार पर सीबीआई की रेड के खिलाफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का धरना पूरी जारी है।

IndiaTV Hindi Desk
IndiaTV Hindi Desk 04 Feb 2019, 23:56:33 IST

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रविवार की शाम से जारी हाईवोल्टेज ड्रामा थमता नज़र नहीं आ रहा है। कमिश्नर राजीव कुमार पर सीबीआई की रेड के खिलाफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का 'संविधान बचाओ' धरना जारी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए ममता एस्प्लेनेड स्थित मंच पर ही डटी हुई हैं। उन्हें तमाम विपक्षी नेताओं को समर्थन भी मिला। लेकिन, दूसरी और BJP ने भी इस मामले में खुद पर लग रहे आरोपों पर पलटवार किया। ऐसे ही पूरे दिन राजनीतिक ड्रामा चलता रहा। 

बंगाल संकट पर राजनीतिक ड्रामे की हाईलाइट्स:-

- ममता बनर्जी ने कहा कि चिटफंड घोटाला मामले में कोलकाता के पुलिस प्रमुख से पूछताछ की सीबीआई की कोशिश के खिलाफ उनका धरना शुक्रवार तक जारी रहेगा।

- तेजस्वी यादव के अलावा द्रमुक सांसद कनिमोई ने भी धरना स्थल पर पहुंचकर ममता बनर्जी के साथ होने की ताल ठोकी।

- धरना मंच पर तेजस्वी यादव ने ममता बनर्जी से मुलाकात की और कहा कि 'जिस प्रकर से विपक्ष एकजुट हो रहा है। सब जानते हैं कि ममता बनर्जी कितनी मजबूत हैं। इसीलिए BJP उन्हें डराने धमकाने का काम कर रही है। ये लोग सब हथकंडे अपनाएंगे, ये हमारे संविधान को नहीं मानते। देश को आज मजबूत फैसला लेना होगा। हमारी लड़ाई पीएम से नहीं, विचाराधारा है।'

- कल सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में तीन जजों की खंडपीठ बंगाल संकट पर सुनवाई करेगी। जस्टिस दीपक गुप्ता और जस्टिस संजीव खन्ना इस बेंच के बाकी दोनों जज है। सुप्रीम कोर्ट के सामने सीबीआई की तरफ से दो याचिका होगी। एक अदालत की अवमानना की और दूसरी कोलकाता पुलिस कमिश्नर को जांच के लिए सहयोग देने का निर्देश देने की।

- ममता बनर्जी ने कहा कि 'राजीव कुमार चोर हैं तो मैं भी चोर हूँ। कोई सबूत है तो मुझे गिरफ़्तार करो। एक ईमानदार पुलिस ऑफिसर के घर रविवार को बिना वॉरंट के कैसे पहुँच गए।

- ममता बनर्जी की शिकायत लेकर BJP चुनाव आयोग पहुंची है। BJP ने चुनाव आयोग को प. पंगाल के हालातों से अवगत कराया। 

- तमिलनाडु के विपक्षी दल द्रमुक ने ममता बनर्जी का समर्थन किया है। स्टालिन ने अपनी बहन और राज्यसभा सदस्य कनिमोई को कोलकाता में धरने पर बैठी ममता बनर्जी से मुलाकात करने और उन्हें समर्थन देने के लिए कहा है।

- TMC के कार्यकर्ताओं पर BJP ने अपना कार्यालयों पर तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। BJP के प. बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इसकी जानकारी देते हुए विरोध दर्ज कराया है।

-TMC कार्यकर्ता प. बंगाल में पीएम मोदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। मेट्रो चैनल पर चल रहे धरने के पास बड़ी संख्‍या में आम लोग और टीएमसी कार्यकर्ता मौजूद हैं।

- उच्चतम न्यायालय कोलकाता पुलिस आयुक्त पर शारदा चिटफंड घोटाला मामले से जुड़े इलेक्ट्रॉनिक सबूत नष्ट करने का आरोप लगाने वाली सीबीआई की अर्जियों पर मंगलवार को सुनवाई करेगा। न्यायालय से सोमवार को सख्त शब्दों में कहा कि यदि रंचमात्र भी यह पता चला कि पुलिस आयुक्त साक्ष्य नष्ट करने का प्रयास कर रहे हैं तो उनके साथ सख्ती से पेश आया जाएगा। 

- पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह को रिपोर्ट सौंप दी है। ये जानकारी राजभवन के सूत्रों ने दी। बहरहाल, रिपोर्ट के ब्यौरा की जानकारी नहीं है। 

- ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल (बीजद) और विपक्षी दल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के केंद्र सरकार पर लगाए गए सीबीआई के दुरुपयोग के आरोपों को लेकर उनका समर्थन किया।

- BJP ने एक ट्वीट कर राहुल गांधी के जल्द ही ठीक होने की कामना की गई है। दरअसल, BJP ने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। ट्वीट में BJP ने राहुल गांधी के उन पुराने ट्वीट्स का कोलाज बनाकर शेयर किया है, जिसमें उन्होंने शारदा चिटफंड को लेकर बनर्जी सरकार पर हमला किया था।

जानिए क्‍या है विवाद की जड़ में समाया चिटफंड घोटाला  हिरासत में सीबीआई 

रविवार शाम सीबीआई की एक टीम ने चिट फंड घोटाला मामलों में कोलकाता के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार से पूछताछ के लिए उनके घर पहुंची थी। लेकिन सीबीआई को न तो प्रवेश करने दिया गया, वहीं सीबीआई के अधिकारियों को 2 से 3 घंटे तक हिरासत में भी रखा गया। सीबीआई की कार्रवाई के तुरंत बाद ममता कमिश्‍नर के आवास पर पहुंच गईं और भाजपा के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाते हुए कहा कि सीबीआई कार्रवाई "राजनीतिक रूप से प्रतिशोध वाली" और संवैधानिक मानदंडों पर हमला है। बाद में वह एस्प्लेनेड में धरने पर बैठ गईं।

धरना स्‍थल से ही करेंगी सदन को संबोधित 

जानकारी के मुताबिक, रात भर धरने पर बैठी रहीं ममता सुबह यहीं सड़क पर कैबिनेट मीटिंग बुलाएंगी। ममता फोन से ही विधानसभा सत्र को संबोधित कर सकती हैं, जिसके बाद राज्य का बजट पेश किया जाएगा। 

सीबीआई को घोटाले के सबूत नष्‍ट होने का डर, कोलकाता दफ्तर सीआरपीएफ का डेरा

सड़क से लेकर रेल रोक रहे हैं टीएमसी कार्यकर्ता 

सीबीआई कार्रवाई के विरोध में टीएमसी कार्यकर्ता भी सड़कों पर हैं। सोमवार सुबह से हुगली के रिसड़ा में टीएमसी कार्यकर्ता रेल रोको आंदोलन कर रहे हैं। ​वहीं, आसनसोल में टीएमसी कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला जलाया।

कोलकाता कूच करेंगे विपक्ष के नेता

ममता बनर्जी पर सीबीआई का शिकंजा कसते देख विपक्ष भी पूरी तरह एकजुट हो रहा है। आज दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल कोलकाता जा सकते हैं। इसके अलावा कई बड़े नेताओं के कोलकाता पहुंचने के आसार हैं। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार, नैशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला, बीएसपी सुप्रीमो मायावती, एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव समेत तमाम विपक्षी नेताओं ने ममता से फोन पर बात की और उनके प्रति एकजुटता जाहिर की है। 

प्रधानमंत्री के हाथ रंगे हैं खून से: ममता

कुमार के आवास के बाहर ममता ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री के आदेश पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सीबीआई को राजनीतिक विरोधियों को परेशान करने का निर्देश दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे ऐसे प्रधानमंत्री से बात करने में शर्म महसूस होती है जिनके हाथों में खून लगा है।"

मोदी और शाह पर आरोप 

ममता ने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी और अमित शाह राज्य में तख्तापलट का प्रयास कर रहे हैं क्योंकि हमने 19 जनवरी को विपक्ष की रैली आयोजित की थी। हम जानते थे कि रैली आयोजित करने के बाद सीबीआई हम पर हमला बोलेगी।’’ वह ब्रिगेड रैली का जिक्र कर रही थीं जिसमें करीब 20 विपक्षी दलों के नेता शामिल हुए थे। उन्होंने कहा कि सीबीआई की कार्रवाई राजनीतिक प्रतिशोध वाली है। उन्होंने पुलिस आयुक्त राजीव कुमार के आवास के बाहर जल्दबाजी में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ हमारी सरकार ने सत्ता में आने के बाद चिट फंड मालिकों को गिरफ्तार किया। हमने ही मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया।’’

ममता ने कहा कि वे साबित करें कि कुमार चिट फंड घोटाले में शामिल हैं। उन्होंने कहा, "कानून व्यवस्था राज्य का विषय है। हमें आपको (सीबीआई को) सब कुछ क्यों देना चाहिए? उन्हें पुलिस आयुक्त के आवास पर बिना किसी वारंट के आने के लिए इतना दुस्साहस कहां से मिल रहा है?"

देखें वीडियो-

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन