Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. हरेंद्र की लगन देख भावुक हुईं...

हरेंद्र की लगन देख भावुक हुईं डिंपल, अखिलेश ने की मदद

नई दिल्ली: नोएडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन के बाहर बैठे एक 13 साल के बच्चे की पढ़ाई के प्रति ललक देख सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव का दिल पसीज गया। डिंपल

India TV News Desk
India TV News Desk 28 Sep 2015, 21:02:02 IST

नई दिल्ली: नोएडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन के बाहर बैठे एक 13 साल के बच्चे की पढ़ाई के प्रति ललक देख सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव का दिल पसीज गया। डिंपल ने यह बात जब अखिलेश यादव के साथ साझा की तो सीएम साहब ने इस लड़के को सीधे लखनऊ बुला लिया। यह लड़का अपर जिलाधिकारी राजेश यादव के साथ रविवार को लखनऊ गया था। लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास में आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने इस होनहार बालक को पांच लाख रुपये का चेक सौंपकर उसका उत्साह बढ़ाया।

आर्थिक तंगी में फंसा था हरेंद्र औऱ उसका परिवार

आपको बता दें कि 13 साल का हरेंद्र आर्थिक तंगी के चलते मेट्रो स्टेशन के बाहर वजन तौलने की मशीन लिए बैठता था। यह उसकी थोड़ी बहुत कमाई का साधन भी था, लेकिन उसकी पढ़ाई के प्रति ललक ऐसी रही कि वो स्ट्रीट लाइट की रोशनी में बड़ी लगन के साथ पढ़ता और लोगों का वजन भी तौलता।

सोशल मीडिया पर हरेंद्र की फोटो हुई वायरल

हरेंद्र की ललक देखते हुए किसी ने उसकी तस्वीर खींचकर सोशल मीडिया पर शेयर कर दी थी। देखते ही देखते उसकी तस्वीर वायरल हो गई। इस तस्वीर को जब मुख्यमंत्री की पत्नी डिंपल ने देखा, तो उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने यह बात अखिलेश यादव से साझा की। अखिलेश ने यह तस्वीर देखकर डीएम एन पी सिंह को फोन कर इस बच्चे की डिटेल मांग ली। जब मुख्यमंत्री के पास बच्चे की सारी जानकारी पहुंच गई, तो उन्होंने उसे लखनऊ बुला लिया। हरेंद्र को लेकर एसडीएम राजेश यादव खुद लखनऊ गए।

कौन है हरेंद्र

श्रीकृष्णा इंटर कॉलेज में नौवीं कक्षा का यह छात्र हरेंद्र पढ़ने और घरवालों की मदद के मकसद से काम करता है। उसने बताया, “ मेरे पापा की नौकरी जून में चली गई और वह बीमार रहने लगे। तभी मैने यह मशीन खरीदी थी। मेरे स्कूल के टीचर ने मुझसे रं ग, A3 शीट्स और फाइल कवर खरीदने के लिए कहा था। मेरे पास पैसे नहीं थे, इसलिए अब मैं इस मशीन की मदद से पैसे कमाता हूं। अपने प्रॉजेक्ट के लिए पैसे इकट्ठे करने के लिए मैंने यहां मेट्रो स्टेशन के बाहर बैठना शुरू कर दिया। जब हरेंद्र ग्राहकों का इंतजार कर रहा होता है, उस दौरान वह अपना समय पढ़ने में बिताता है। वह अपनी किताबें साथ लेकर ही बैठता है।” उसने बताया कि वो शाम को लगभग सात बजे मेट्रो स्टेशन के बाहर बैठ जाता है और नौ बजे तक यहां रहता है। इस दौरान वो 60 से 70 रुपए तक कमा लेता है। उसने बताया कि वो यह जानकर खुश है कि उसे मुख्यमंत्री ने बुलाया और मदद का हाथ बढ़ाया।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: हरेंद्र की लगन देख भावुक हुईं डिंपल, अखिलेश ने की मदद