Live TV
GO
  1. Home
  2. भारत
  3. राष्ट्रीय
  4. श्रीदेवी की मौत पर मीडिया ने...

श्रीदेवी की मौत पर मीडिया ने की ये 5 ग़लतियां

श्रीदेवी की मौत पर अधिकतर टीवी मीडिया ने TRP के चक्कर में ऐसी-ऐसी ख़बरें चलाईं जिससे उनकी निष्पक्ष और ज़िम्मेदाराना पत्रकारिता पर संदेह होता है.

India TV News Desk
Written by: India TV News Desk 28 Feb 2018, 13:35:52 IST

बॉलीवुड की पहली महिला सुपरस्टार अदाकारा श्रीदेवी की आकस्मिक मौत से न सिर्फ सिनेजगत बल्कि फ़िल्मों के शौकीन तमाम लोग सदमे में हैं. श्रीदेवी की दुबई के एक होटल में शनिवार को रुम के बाथटब में डूबने से मृत्यु हो गई थी. मंगलवार रात उनका शव मुंबई लाया गया और आज उनका दोपहर बाद अंतिम संस्कार होगा. बहरहाल, शनिवार से लेकर मंगलवार दोपहर तक अधिकतर टीवी मीडिया ने TRP के चक्कर में ऐसी-ऐसी ख़बरें चलाईं जिससे उनकी निष्पक्ष और ज़िम्मेदाराना पत्रकारिता पर संदेह होता है. हम यहां बताने जा रहे हैं टीवी मीडिया की 5 ग़लतियां

1) टीवी न्यूज़ चैनल ने श्रीदेवी की मृत्यु से जुड़े सही तथ्यों का इंतज़ार नहीं किया

जब पहले ये ख़बर आई कि श्रीदेवी का निधन 'दिल का दौरा' पड़ने से हुआ है तो टीवी शो में अभिनेत्री की सेहत को लेकर लंबी-लंबी चर्चाएं होने लगीं. सोशल मीडिया पर अफ़वाहे उड़ने लगी कि श्रीदेवी डाइट पिल्स लेती थी, वज़न घटाने के लिए सर्जरी करवाई आदि आदि. प्राइम टाइम टीवी शो पर इन तमाम विषयों पर 'विश्लेषकों' के बीच विश्लेक्षण होने लगा जबकि होना ये चाहिये था कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतज़ार किया जाए. रिपोर्ट जब आई तो पता लगा कि श्रीदेवी अचानक बेहोश हो गईं थी और इसी वजह से बाथटब में डूबने से उनकी मौत हो गई. इस तरह की चर्चाओं से लगा मानो श्रीदेवी अपनी मौत के लिए ख़ुद ज़िम्मेदार हैं. ये न सिर्फ दिवंगत अभिनेत्री का अपमान था बल्कि पत्रकारिता के मूल सिद्धांतो के भी विरुद्ध था.

2) मीडिया ने श्रीदेवी की मौत के सीन की नक़ल करना ठीक समझा

मीडिया को इन दिनो इस बात से कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि घटना की तस्वीर उपलब्ध है या नही. टीवी चैनल्स ने बाथरुम और बाथटब की नक़ल करना शुरु कर दी और इस तरह पत्रकारिता का मज़ाक बनाया. एक पत्रकार तो बक़ायदा बाथटब में लेटकर रिपोर्टिंग करते देखे गए. 

3) श्रीदेवी के पति बोनी कपूर से पुलिस-पूछताछ को बढ़ा चढ़ाकर दिखाया

मृतक के रिश्तेदारों या जिसने शव सबसे पहले देखा हो, उससे पुलिस-पूछताछ एक आम बात है. दुबई पुलिस ने भी ठीक ऐसा ही किया. लेकिन मीडिया ने कहा, "बोनी कपूर से 16-18 घंटे तक “ज़बरदस्त” पूछताछ. यहां तक कि मीडिया ने ये तक कह दिया कि बोनी कपूर पूरी रात थाने में रहे. 

4) शराब और श्रीदेवी की मौत को लेकर मीडिया की अटकलें

फ़ॉर्नसिक रिपोर्ट में बताया गया कि श्रीदेवी के ख़ून की जांच में “शराब के ट्रेस'' मिले हैं जिसका सीधा सा मतलब था कि श्रीदेवी ने मौत के पहले शराब पी थी. इस खबर को लेकर मीडिया उड़ गया. मीडिया श्रीदेवी की शराब पीने की लत पर चर्चा करने लगा. मीडिया ने श्रीदेवी के दोस्तों से पूछा कि वह रेड वाइन पीती थीं या वोदका. एक विश्लेक्षक ने तो ये तक कह दिया कि मौत की वजह शराब और एंटीडिप्रेसेंट दवा का घालमेल हो सकता है जबकि इस बात का कोई सबूत नही था कि श्रीदेवी अवसाद के लिए कोई दवा लेती थीं. चर्चा इस पर भी हुई कि क्यों श्रीदेवी कुंठित थी और ये कि उस रात क्यों उन्होंने शराब पी.  

5) मीडिया का ग़ैरज़रुरी विश्लेक्षण

श्रीदेवी की मौत के मीडिया कवरेज पर पत्रकार बरखा दत्त ने अपने लेख में लिखा न्यूज़ एंकर्स ने इस बात पर चर्चा की कि "क्या एक प्रशिक्षित डांसर बाथटब में अपना संतुलन खो सकती है" और ये कि "हमम से ज़्यादातर लोग नहाने के लिए शॉवर या बाल्टी का इस्तेमाल करते हैं और हमारे यहां “बाथटब कल्चर” नही है.''

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Web Title: श्रीदेवी की मौत पर मीडिया ने की ये 5 ग़लतियां