Live TV
GO
  1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. नंदिता दास ने कहा, कलाकारों और...

नंदिता दास ने कहा, कलाकारों और लेखकों के लिए चल रहा है भयानक समय

नंदिता दास अब तक के अपने फिल्मी करियर में कई बेहतरीन किरदारों और कहानियों को बखूबी पर्दे पर उतार चुकी हैं। उन्होंने अपनी फिल्मों में कई चुनौपूर्ण भूमिकाओं को निभाया है। हालांकि अब जो समय चल रहा है उसमें लगभग हर फिल्म पर विवाद खड़ा किया जा रहा है।

India TV Entertainment Desk
Edited by: India TV Entertainment Desk 26 Jan 2018, 10:02:12 IST

कोलकाता: बॉलीवुड अभिनेत्री और फिल्म निर्माता नंदिता दास अब तक के अपने फिल्मी करियर में कई बेहतरीन किरदारों और कहानियों को बखूबी पर्दे पर उतार चुकी हैं। उन्होंने अपनी फिल्मों में कई चुनौपूर्ण भूमिकाओं को निभाया है। हालांकि अब जो समय चल रहा है उसमें लगभग हर फिल्म पर विवाद खड़ा किया जा रहा है। पिछले कुछ वक्त से फिल्मकार संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ पर जमकर हंगामा किया जा रहा है। हाल ही में नंदिता दास ने कहा है कि देश की वर्तमान स्थिति को 'कलाकारों और लेखकों के लिए भयावह वक्त' के रूप में वर्णित किया, क्योंकि फिल्मों और कलाओं में पहले कुछ भी किया जा सकता है, लेकिन अब ऐसा नहीं है।

उनका मानना है कि यह अधिक जिम्मेदार बनने का समय है। नंदिता ने बुधवार की देर शाम को टाटा स्टील कोलकाता लिटेररी फेस्टिवल में कहा, "मुझे नहीं पता कि क्या मैं 'फिराक' (2008) कर सकती हूं या आज 'फायर' (1996) जैसी फिल्म में अभिनय कर सकती हूं और ये फिल्में अब बन सकती हैं। टीवी धारावाहिक 'भारत एक खोज' में 'पद्मावती' पर एक एपिसोड था, जिसे श्याम बेनेगल ने कई साल पहले बनाया था। उन चीजों को हम कर सकते थे और सहमत और असहमत होने के हमारे अपने तरीके थे।"

उन्होंने कहा, "यह कलाकारों, लेखकों के लिए मुश्किल वक्त है, लेकिन यह अधिक जिम्मेदार बनने का समय है और कुछ होने से पहले कम से कम खुद सेंसर होते हैं। दुर्भाग्य से वातावरण ऐसा है कि लोग डर से बाहर हो रहे हैं।" आगामी फिल्म 'मंटो' के बारे में नंदिता ने कहा कि वह सामग्री से प्रेरित थी और लोगों को लेखक के आकर्षक व्यक्तित्व की बारीकियों के बारे में बताना चाहता थीं।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Web Title: Nandita Das says scary time for artists and writers