Live TV
GO
  1. Home
  2. सिनेमा
  3. बॉलीवुड
  4. क्या कभी एक्टिंग के बिना जीने...

क्या कभी एक्टिंग के बिना जीने का सोचा? डैनी डेंजोंगप्पा ने दिया ऐसा जवाब

डैनी डेंजोंगप्पा के अभिनय से सजी फिल्म 'बायोस्कोपवाला' को लेकर पिछले काफी वक्त से चर्चा बनी हुई थी, फिल्म में उन्हें मुख्य किरदार में देखा जा रहा है। बता दें कि डैनी इंडस्ट्री में 5 दशक लंबा वक्त बिता चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 100 से भी ज्यादा में कई चुनौतिपूर्ण किरदारों को बखूबी पर्दे पर उतारा है।

India TV Entertainment Desk
Edited by: India TV Entertainment Desk 26 May 2018, 13:25:15 IST

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता डैनी डेंजोंगप्पा के अभिनय से सजी फिल्म 'बायोस्कोपवाला' को लेकर पिछले काफी वक्त से चर्चा बनी हुई थी, फिल्म में उन्हें मुख्य किरदार में देखा जा रहा है। बता दें कि डैनी इंडस्ट्री में 5 दशक लंबा वक्त बिता चुके हैं। इस दौरान उन्होंने 100 से भी ज्यादा में कई चुनौतिपूर्ण किरदारों को बखूबी पर्दे पर उतारा है। डैनी की फिलहाल अभिनय से सेवानिवृत्त होने की कोई योजना नहीं है, लेकिन डैनी ने कहा कि यह उनके लिए एक ऐसी चीज है जिसके बिना वह रह सकते हैं। पिछले कुछ सालों में डैनी ‘नाम शबाना’ (2017), ‘बेबी’ (2015) और ‘बैंग बैंग’ (2015) जैसी फिल्मों में नजर आए हैं। लेकिन क्या उन्हें कभी भी अभिनय के बिना जीवन जीने का विचार किया है?

इस पर डैनी ने बताया, "मैं ऐसा कर सकता हूं। मैं ध्यान कर सकता हूं और दुनियाभर में घूम सकता हूं। मैं पेंटिंग और बागवानी कर सकता हूं। लेकिन एक अच्छी पटकथा मिलने पर फिल्म करना अच्छा है। मुझे पटकथाएं मिलती रहती हैं, मैं उन्हें पढ़ता हूं और फिर मैं एक साल में एक फिल्म करता हूं जो एक अच्छा बदलाव है।" उन्होंने कहा, "मैं ज्यादातर सर्दियों में शूटिंग करता हूं, क्योंकि यह मेरे लिए एक बहुत ही आरामदायक स्थिति होती है। मैं दौड़ का हिस्सा नहीं हूं। मैंने यह कभी नहीं किया है। मेरी अपनी जगह है।" 1971 में फिल्म 'जरूरत' से बॉलीवुड में डेब्यू करने के बाद डैनी ने फिल्म उद्योग में एक विलेन के रूप में खास जगह बनाई। '36 घंटे', 'द बर्निग ट्रेन', 'बंदिश' और 'अग्निपथ' जैसी फिल्मों में उनके द्वारा निभाए गए खलनायक के किरदारों को आज भी याद किया जाता है।

उन्होंने कहा, "खलनायक की भूमिका एक अलग आकर्षण है। 1970, 80 और 90 के दशक में नायक के बाद खलनायक सबसे महत्वपूर्ण चरित्र होता था। खलनायक के बिना कोई पटकथा नहीं थी। यह इस अर्थ में और रोमांचक था कि खलनायक के लिए संवाद और दृश्य जबरदस्त होते थे। हमने आनंद लिया। अब समय बदल गया है। आजकल आप नायकों को नकारात्मक भूमिका में देख रहे हैं" 'बायोस्कोपवाला' को लेकर डैनी ने कहा, "यह इसलिए विशेष नहीं है क्योंकि मैं मुख्य भूमिका निभा रहा हूं। ऐसा नहीं है कि मैं गाने गा रहा हूं या पेड़ के चारों ओर नृत्य कर रहा हूं। यह एक यथार्थवादी किस्म की फिल्म है। यह एक बहुत ही अपरंपरागत भूमिका है।" बता दें कि डैनी की अगली फिल्म 'मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी' है जिसमें कंगना रनौत मुख्य किरदार में दिखाई देंगी।

India Tv पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Bollywood News in Hindi के लिए क्लिक करें सिनेमा सेक्‍शन
Web Title: Danny Denzongpa reaction on leading life sans acting